‘एमआईटी एडीटी’ में शुरू हुआ ऑर्गेनिक खाद निर्माण प्लांट

पुणे. एमआईटी आर्ट, डिज़ाइन और टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी में बुधवार को पूरी तरह से स्वचालित कार्बन वेस्ट कन्वर्टर संयंत्र का अनावरण किया गया. इस प्लांट का उद्घाटन एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. मंगेश कराड और एमआईटी स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर की प्रिंसिपल डॉ. अश्विनी पेठे ने किया.

 प्रतिदिन 300 किलो खाद का उत्पादन

इस संयंत्र से हर दिन लगभग 1250 किलोग्राम जैविक कचरे से 300 किलोग्राम उच्च-ग्रेड खाद निर्माण किया जाएगा. इस समय रजिस्ट्रार शिवशरण माली, जनरल मैनेजर कैंपस राजकुमार जैन, डॉ. रामचंद्र पुजारी, मोहन मेनन, दिलीप पाटिल, डॉ. वीरेंद्र शेटे, प्रो. सूराज भोयर, परियोजना प्रबंधक प्रकाश कोर्डे, संदीप कदम और संतोष चौधरी आदि उपस्थित थे.

पर्यावरण पूरक कैम्पस का लक्ष्य

इस अवसर पर डॉ. मंगेश कराड ने कहा कि प्लांट लगाने का उद्देश्य एमआईटी-एडीटी का कैम्पस पर्यावरण पूरक और कार्बन-न्यूट्रल बनाने का है. एमआईटी के समूहों में पहला विश्वविद्यालय है जो इस तरह की मशीन स्थापित कर जैविक खाद्य उत्पादित करेगा. हर दिन 1250 किलोग्राम की अपशिष्ट क्षमता के साथ पूरी तरह से स्वचालित इस संयंत्र से बिना किसी रासायनिक उपचार के 300 किलोग्राम जैविक खाद का उत्पादन होगा. खाद का उपयोग विश्वविद्यालय के आसपास के हरे क्षेत्रों को निषेचित करने के लिए किया जाएगा.

अपना कचरा, अपनी जिम्मेदारी

प्रिंसिपल डॉ. अश्विनी पेठे ने कहा कि ऑर्गेनिक वेस्ट कन्वर्टर लॉन्च कर एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी ने पर्यावरण रक्षण का काम किया है. इस तरह की पहल निश्चित रूप से हमारे विश्वविद्यालय के प्राथमिक उद्देश्य को प्राप्त करने में मदद करगी. विश्वविद्यालय का उद्देश्य पर्यावरण को स्वच्छ और कार्बन प्राकृतिक परिसर को बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास करना है. इस संयंत्र की स्थापना से पर्यावरण रक्षण और कार्बन न्युट्रल कैंपस बनाने का उद्देश पुरा होगा. अपना कचरा अपनी जिम्मेदारी इसके लि‍ए इस प्लांट का शुभारंभ किया गया है.