मजबूत सड़क निर्माण के अनुसंधान के लिए पेटेंट

  • एमआई़टी एडीटी यूनिवर्सिटी के प्रा. राजशेखर राठौर की उपलब्धि

पुणे. एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग के सहायक प्राध्यापक द्वारा ‘ब्लैक कॉटन सॉइल यूज़ क्रश्ड सैंड एंड लाइम’ को भारतीय पेटेंट मिला है.

इस पेटेंट द्वारा क्रश्ड रेत और चूने के मिश्रण से महाराष्ट्र के काली मिट्टी वाले क्षेत्रों में एक मजबूत सड़क बनाने में मदद होगी.एमआईटी स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग के प्रिन्सिपल प्रा. डॉ. किशोर रवांदे ने इस अनुसंधान के लिए विशेष मार्गदर्शन किया.

साढ़े तीन साल से शोध पर काम कर रहे

इस पेटेंट के बारे में प्रा. राजशेखर राठौर ने कहा कि वे पिछले रहे हैं. चूंकि महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों में काली मिटी पायी जाती है, इसलिए सड़कों के निर्माण में कई कठिनाइयां आती हैं. यह आर्थिक रूप से व्यवहारिक नहीं है. इसलिए उन्होंने  चूने और क्रश्ड रेत का उपयोग कर काली मिट्टी के गुणों में बदलकर एक मजबूत मिश्रण तैयार किया है. इसका उपयोग काली मिट्टी वाले क्षेत्रों में मजबूत सड़कें बनाने के लिए किया जा सकता है. यह शोध राज्य के सभी हिस्सों में मजबूत सड़कों के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा. इस अनुसंधान के लिए प्रा. राजशेखर राठौर का एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी के कार्याध्यक्ष और कुलपति प्रा. डॉ. मंगेश कराड ने बधाई दी.