File Photo
File Photo

    पुणे. पूरे देश में कोरोना (Corona) का तांडव शुरू है। मरीजों (Patients) की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। देश में सबसे ज्यादा मरीज महाराष्ट्र (Maharashtra) में ही हैं और महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मरीज पुणे (Pune) में हैं। परिस्थिति इतनी भयानक है कि मरीजों को बेड नहीं मिल रहे हैं। इसलिए अब पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) ने सेना (Army) से मदद (Help) मांगी है।

    पुणे में बढ़ते मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए पुणे महानगरपालिका की सीमा में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करने के लिए लगभग 21 हजार से अधिक बेड उपलब्ध कराए गए हैं। पुणे में 489 बेड्स में वेंटीलेटर की सुविधा उपलब्ध है। पुणे में आईसीयू और वेंटिलेटर बेड का अभाव दिख रहा है। सोमवार को शाम तक एक भी वेंटिलेटर बेड उपलब्ध नहीं होने की जानकारी सामने आई। इसलिए अब पुणे महानगरपालिका ने सेना से मदद मांगी है। 

    पीएमसी कमिश्नर ने लिखा खत

    दरअसल पुणे में सेना का एक बड़ा अस्पताल है। इस अस्पताल में 335 बेड और वेंटीलेटर की सुविधा है। शहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर प्राइवेट और सरकारी अस्पताल में बेड की कमी नजर आ रही है। इसके चलते कोरोना मरीज के इलाज के लिए पीएमसी ने सेना से मदद मांगी है। इस बारे में मनपा कमिश्नर विक्रम कुमार ने सेना को एक खत भी लिखा है।