Investigation campaign against liquor sellers, liquor satha, including two two wheeler seized

पिंपरी. हत्या के मामले में गत 8 साल से फरार चल रही  महिला आरोपी पर पिंपरी चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के यूनिट-3 की टीम ने शिकंजा कसा है. सिंधू एकनाथ मानकर (50) नामक गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ आलंदी पुलिस थाने में हत्या का मामला दर्ज है. वारदात के बाद वह अपना ठिकाना बदलकर रह रही थी.

यूनिट-3 के पुलिस निरीक्षक शंकर बाबर ने बताया कि 2012 में आलंदी परिसर में हत्या की एक वारदात हुई थी. इस मामले में नौ में से आठ आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. खेड राजगुरुनगर अतिरिक्त सत्र न्यायालय ने उन्हें उम्रकैद और पांच हजार रुपये दंड की सजा भी सुनाई है. सभी आरोपी येरवडा जेल में सजा भुगत रहे हैं.हालांकि सिंधु मानकर लगातार फरार चल रही थी.

क्राइम ब्रांच की टीम ने किया गिरफ्तार

फरार आरोपियों की टॉप लिस्ट बनाकर क्राइम ब्रांच उनकी तलाश में जुटी हुई है. इस दौरान यूनिट-3 के कर्मचारी त्रिनयन बालसराफ को सिंधु मानकर के बारे में पता चला, जोकि अपना पता बदलकर हवेली तालुका स्थित धायरी फाटा इलाके में रह रही थी.इसके अनुसार सहायक पुलिस निरीक्षक सतीश कांबले, उपनिरीक्षक गिरीश चामले, कर्मचारी गंगाधर चव्हाण, विठ्ठल सानप, हजरत पठान, सचिन मोरे, यदु आढारी, त्रिनयन बालसराफ, महेश भालचीम, राजकुमार हणमंते, सागर जैनक, योगेश्वर कोलेकर, प्रमोद ढाकणे, नाथा केकाण, राहुल सूर्यवंशी, आशा जाधव की टीम ने उसे हिरासत में लेकर आलंदी पुलिस के हवाले कर दिया.