यू-ट्यूब पर देखकर जाली नोटों की छपाई

  • सगे भाई-बहन क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में

पिंपरी. यू-ट्यूब पर देखकर जाली नोट छापकर उसे बाजार में चलाने की कोशिश करनेवाले भाई-बहन को पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के यूनिट-1 ने गिरफ्तार किया है. उनके पास से सौ रुपये के 34 जाली नोट, प्रिंटर और कागज की रिम आदि कुल 34 हजार रुपए का माल बरामद किया गया है. गिरफ्तार भाई-बहन के नाम सुनीता प्रदीप रॉय (22) और दत्ता प्रदीप रॉय (18) हैं. उन्होंने झटपट पैसे कमाने के उद्देश्य से यू-ट्यूब पर जाली नोट छापने का वीडियो देखा और नोट छाप कर उन्हें बाजार में खपाने की कोशिश की, ऐसा पुलिस की जांच में सामने आया है.

भोसरी सब्जी मंडी में चलाने के लिए गए भाई-बहन

क्राइम ब्रांच यूनिट-1 के पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगड़े ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि शॉर्टकट में पैसे कमाने के लिहाज से आरोपी भाई- बहन ने उत्तमनगर के एक घर में जाली नोट छापे. उसमें सटीकता लाने के लिए उन्होंने यू-ट्यूब के वीडियो का सहारा लिया और इस बार 100 रुपए के 34 नोट छापे. इन नोटों को बाजार में खपाने के इरादे से संगीता अपने भाई के साथ भोसरी के सब्जी मंडी में सब्जी खरीदने आयी थी. उसने एक जाली नोट एक विक्रेता को देने की कोशिश की, मगर विक्रेता ने तुरंत नोट की पहचान की और परिसर के लोगों ने महिला को पकड़कर जमकर धुलाई की. बेहोश होने का नाटक कर संगीता किसी तरह से वहां से भाग निकली. हालांकि उसके भाई को लोगों ने पकड़े रखा और उसे पुलिस के हवाले कर दिया.

34 हजार 210 रुपयों का माल बरामद

क्राइम ब्रांच यूनिट-1 के कर्मचारी गणेश सावंत को इस घटना की जानकारी मिली. इसके बाद तुरतं 2 टीम तैयार की गई और महिला की खोज के लिए भेजा गया. कुछ घंटों में उन्हें संगीता को पकड़ने में सफलता भी मिल गई. इसके बाद पुलिस संगीता के घर तलाशी लेने लिए उत्तमनगर पहुंची. उनके घर से पुलिस को 100 रुपयों के 34 और अन्य जाली नोटों समेत प्रिंटर और कागज ऐसा कुल 34 हजार 210 रुपयों का माल बरामद हुआ. उन्होंने पुलिस को बताया कि यू-ट्यूब वीडियो देखकर उन दोनों ने कलर प्रिंटर द्वारा जाली नोटों की छपाई की थी और उसे मार्केट में अपने भाई की मदद से चलाती थी. 

जल्द बनाने वाले थे 2000 के जाली नोट

ये भाई-बहन जल्द ही दो हजार के जाली नोट बनाने की कोशिश करनेवाले थे. हालांकि वक्त रहते दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. क्राइम ब्रांच ने दोनों आरोपियों को भोसरी पुलिस के हवाले कर दिया है.