Fashion Street Market fire
Fashion Street Market fire

    पुणे. पुणे शहर (Pune City) में आग (Fire) लगने के कारण पुणेकरों (Punekar) का जीवन खतरे में पड़ रहा है।  लाखों रुपए का नुकसान हुआ है और व्यवसाय बर्बाद हो रहा है। हालांकि आग बुझाने के लिए एक व्यवस्था है, लेकिन फायर ब्रिगेड (Fire Brigade) के पास मैन पावर नहीं है। करीब 55 फीसदी पद रिक्त हैं और केवल 45 फीसदी अधिकारी और कर्मचारी आग से लड़ रहे हैं। रिक्त पदों को भरने के लिए तीन साल पहले राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन यह अभी भी लंबित है। सरकारी उदासीनता से पुणेकरों का नुकसान हो रहा है। 

    पुण के फैशन स्ट्रीट में शुक्रवार रात आग लगने से 850 दुकानें जल गईं, जिससे कई लोगों का बेहद नुकसान हुआ। दो महीने पहले सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने से कुछ लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी, जबकि पुणे शहर की सीमाएं, आबादी, इमारतें और बाजार बढ़ रहे हैं, यह बात सामने आई है कि नागरिकों की सुरक्षा के उपाय उस सीमा तक नहीं बढ़ रहे हैं। आग लगने की स्थिति में फायर ब्रिगेड की जागरूकता को कम करने के लिए पर्याप्त और प्रशिक्षित जनशक्ति होना जरूरी है। मार्च 2018 में अग्निशमन निदेशालय ने फायर ब्रिगेड के अधिकारियों और कर्मचारियों की भर्ती के लिए ‘आदर्श कॉमन सर्विस एडमिशन नियम’ तैयार किए। इसे अनुमोदन के लिए शहरी विकास मंत्रालय को प्रस्तुत किया गया था।  

    नहीं दी मंजूरी

    हालांकि इसे तीन साल हो गए हैं, शहरी विकास विभाग ने अभी तक इसे मंजूरी नहीं दी है। परिणामस्वरूप, पुणे मनपा  की फायर ब्रिगेड में भर्ती ठप हो गई है।  वर्तमान में, फायर ब्रिगेड में 28 विभिन्न प्रकार के पद हैं। इनमें से केवल सात कार्य करने के साथ ही मुख्य अग्निशमन अधिकारी, ऑपरेटर (वाहन), वरिष्ठ रेडियो तकनीशियन, अधीक्षक, उप अधीक्षक और चपरासी के पद पूरी क्षमता से भरे गए हैं।  जबकि शेष 22 पदों के लिए 903 रिक्त जगह हैं, वर्तमान में 393 लोग काम कर रहे है। तो 510 रिक्त जगह है। 

    महानगरपालिका के फायर ब्रिगेड में 910 पदों में से 510 पद खाली हैं। इन पदों को नहीं भरा जा सकता क्योंकि नियमों को राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित नहीं किया जाता है। मनपा इसका पालन कर रहा है, लेकिन चूंकि शहरी विकास विभाग इसकी सराहना नहीं करता है, इसलिए शहर के विधायकों को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।

    - विवेक वेलणकर, अध्यक्ष, सजग नागरिक मंच

    राज्य सरकार शहरी विकास विभाग द्वारा फायर ब्रिगेड की भर्ती के लिए नियमों को मंजूरी देने के अंतिम चरण में है। इस मंजूरी के बाद मनपा द्वारा रोस्टर तैयार करके भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। तब तक शहर की बढ़ती आवश्यकता को देखते हुए लगभग छह स्थानों पर नए केंद्र शुरू किए जाएंगे। इसके लिए चालक, टंडेल, मशीन ऑपरेटर सहित करीब डेढ़ सौ पद संविदा के आधार पर भरे जाएंगे।

    -सुरेश जगताप, अतिरिक्त आयुक्त, पुणे महानगरपालिका

     प्रमुख रिक्त पद

    •  टंडेल – 47
    •  फायरमैन – 198
    •  चालक – 152
    •  एम्बुलेंस चालक – 37
    •  उप अग्निशमन अधिकारी – 17
    •  सहायक अग्निशमन अधिकारी – 18