भाजपा के मनचाहा कामकाज का विरोध, पुणे शहर NCP की ओर से आंदोलन

    पुणे. सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) की मनमानी नीतियों के खिलाफ पुणे सिटी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की ओर से आंदोलन (Protest) किया गया। राकांपा के शहर अध्यक्ष प्रशांत जगताप के नेतृत्व में आंदोलन के दौरान सत्तारूढ़ भाजपा का विरोध किया गया। 

    पुणे नगर निगम की स्थापना से लेकर आज तक, शहर में सड़क उत्खनन के संबंध में कुछ मानदंड लागू किए गए थे। तदनुसार, मानसून समाप्त होने के बाद 15 मई तक पानी, नाली और केबल के लिए सड़कों की खुदाई की जा रही थी। 15 मई के बाद बिना किसी खुदाई कार्य के 15 से 31 मई के बीच प्री-मानसून कार्यों की मरम्मत कर शहर को मानसून के लिए तैयार किया जा रहा था। हालांकि, अगले साल होने वाले महानगरपालिका चुनाव पर सत्ताधारी नजर रख रहे हैं। जिसके चलते नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। 

    हादसों की संख्या भी बढ़ी

    आज भी आर्थिक हितों के लिए लक्ष्मी रोड, तिलक रोड जैसी विभिन्न सड़कों पर करोड़ों रुपये के कार्यों के माध्यम से खुदाई की जा रही है।  अनधिकृत केबल खुदाई की अनुमति दी जा रही है। ये सभी मामले आपत्तिजनक हैं, इसलिए पुणे के नागरिकों को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।  पिछले दस-बारह दिनों से शहर में विभिन्न स्थानों पर खुदाई के कारण बड़ा जाम लग गया है। हादसों की संख्या भी बढ़ी है। वाहन चालकों और राहगीरों को अपने फायदे के लिए हर जगह परेशानी उठानी पड़ती है। यह पुणे के लोगों के साथ विश्वासघात है और यह आंदोलन सत्तारूढ़ भाजपा के विरोध में आयोजित किया गया था। जिससे पुणे के लोगों को असुविधा हो रही है। 

    सातवां वेतन आयोग ठंडे बस्ते में 

    साथ ही दो माह पूर्व हुई निगम की मुख्य बैठक में निगम के सेवकों और अधिकारियों के लिए सातवें वेतन आयोग को लागू करने को मंजूरी दी गई थी, लेकिन प्रशासन की ओर से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। नगर निगम ने इस संबंध में राज्य सरकार को कोई प्रस्ताव नहीं भेजा है। अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा रहा है। इसका राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर से विरोध भी किया गया। इस अवसर पर राकांपा अध्यक्ष प्रशांत जगताप, राकांपा महिला प्रदेश अध्यक्ष रूपाली चाकणकर, राकांपा विपक्षी नेता दीपाली धुमाल, प्रदेश प्रतिनिधि प्रदीप देशमुख, शहर महिला अध्यक्ष मृणालिनी वाणी, युवा अध्यक्ष महेश हांडे, नगरसेवक बाबूराव चांदेरे, नगरसेवक सचिन दोडके, नगरसेवक वनराज आंदेकर, नगरसेवक रत्नप्रभा जगताप, पार्षद महेंद्र पाठारे, पार्षद प्रिया गदादे, नितिन कदम, काकासाहेब चव्हाण, मनाली भिलारे, विशाल मोरे, अश्विनी परेरा, अजीम गोडाखुवाला, संतोष नांगरे समेत सभी विधानसभा अध्यक्ष और पदाधिकारी मौजूद रहे।