प्रदूषित शहरों में दूसरे स्थान पर पुणे शहर

पुणे. इस बार कोरोना संक्रमण के बीच दिवाली मनाई गई. सार्वजनिक जगहों पर पटाखे फोड़ने पर पाबंदी लगाने के बावजूद पुणे शहर देश का दूसरा सबसे अधिक प्रदूषित शहर साबित हुआ. 

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के सर्वे में पहले नंबर पर दिल्ली शहर है, जो देश का सबसे अधिक प्रदूषित शहर है. दूसरे नंबर पर पुणे, तीसरे नंबर पर अहमदाबाद और चौथे नंबर पर मुंबई है.

दीपावली में प्रदूषण में वृद्धि हो जाती है

देश का सबसे बड़ा त्यौहार दिवाली मनाया जाता है. दिवाली पर पटाखें फोड़ने, पूजा सामग्री और ठोस कचरे के कारण जल, ध्वनि, हवा और जमीन के प्रदूषण में वृद्धि होती है. इस बार कोरोना महामारी के कारण प्रदूषण कम रहेगा, यह सभी को लग रहा था. लेकिन दिवाली में पटाखों के कारण ध्वनि और हवा प्रदूषण में वृद्धि हो गई.

पिछले वर्ष की तुलना में प्रदूषण का स्तर कम

पिछले वर्ष की तुलना में प्रदूषण का स्तर थोड़ा नीचे रहा. इस सर्वे के बारे में सफर के डॉ. गुमान बेग ने कहा कि दिवाली के मद्देनजर देश स्तर पर सर्वे किया गया. इस बार दिवाली में देश के ज्यादातर राज्यों में पटाखों पर पाबंदी लगाई गई थी. कोरोना महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन की अवधि में प्रदूषण का स्तर पिछले 15 वर्षों की तुलना में कम था. दिवाली में पटाखे फोड़ने पर पाबंदी थी. फिर भी दिल्ली देश का सबसे अधिक प्रदूषित शहर साबित हुआ. दूसरे नंबर पर पुणे शहर रहा. दिवाली के चार दिनों में देश में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया था. लेकिन दिवाली के बाद दिल्ली और पुणे शहर का प्रदूषण स्तर धीमे गति से घट रहा है.