पुणे जिला एटीएस ने 4 देसी पिस्तौल के साथ बदमाशों को दबोचा

पुणे. पुणे जिला (ग्रामीण) पुलिस की बागडोर संभालने के साथ नए जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिनव देशमुख ने जिले में आपराधिक गतिविधियों पर नियंत्रण पाने के लिए अवैध असलहों के खिलाफ मुहिम तेज करने के आदेश दिए हैं.इसके अनुसार पुणे जिला पुलिस की एटीएस की टीम ने पैट्रोलिंग के दौरान शिरूर तालुका में स्थानीय पुलिस के साथ एक जॉइंट ऑपरेशन करते हुए 4 बदमाशों को धरदबोचा है.उनके पास से 4 देसी पिस्तौल बरामद किए जाने की जानकारी पुणे ग्रामीण एटीएस के सहायक पुलिस निरीक्षक अर्जुन मोहिते ने दी है.

आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया

उन्होंने बताया कि पुणे ग्रामीण दहशतवाद विरोधी दस्ते की टीम शिरूर तालुका में पैट्रोलिंग कर रही थी.तब मुखबिर से मिली जानकारी के अनुसार शिरूर पुलिस के साथ मिलकर किरण सोनवणे, सुनील सोनवणे, संतोष मंडले (सभी निवासी रालेगण थेरपा, पारनेर, अहमदनगर) और हर्षराज शिंदे (निवासी बाभुलसर, शिरूर, पुणे) को नामक आरोपियों को शिरूर से हिरासत में लिया.उनके पास से 4 देसी पिस्तौल बरामद की गई है.उनके खिलाफ शिरूर पुलिस थाने में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.इन आरोपियों के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, डकैती जैसे गंभीर मामले दर्ज रहने की जानकारी सामने आयी है.

पुणे ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिनव देशमुख, अप्पर पुलिस अधीक्षक मिलिंद मोहिते, उपविभागीय पुलिस अधिकारी दौंड गजानन टोम्पे, लोकल क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक पद्माकर घनवट, शिरूर थाने के पुलिस निरीक्षक प्रवीण खानापुरे के मार्गदर्शन में पुणे ग्रामीण दहशतवाद विरोधी कक्ष के सहायक पुलिस निरीक्षक अर्जुन मोहिते, शिरूर पुलिस स्टेशन के पुलिस उपनिरीक्षक गणेश जगदाले, सहायक फौजदार विश्वास खरात, पुलिस नाईक विशाल भोरडे, किरण कुसालकर, महेंद्र कोरवी, लक्ष्मण राऊत, मोसिन शेख, अरुण पवार, जारवाल के समावेश वाली टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया.