पुणे: इलेक्ट्रॉनिक बाइक प्रस्ताव को मंजूरी

  • प्रायोगिक तौर पर चलाई जाएगी बाईक
  • योजना को लागू करने वाली देश की पहली मनपा

पुणे. पुणे के बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए पुणे महापालिका (Pune municipality) ने इलेक्ट्रॉनिक बाइक (Electronic bike) के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। यह जानकारी स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने (Hemant Rasne) ने संवाददाता सम्मेलन में दी। प्रायोगिक तौर पर यह योजना चलाई जाएगी. इसके लिए मनपा को कोई लागत नहीं आएगी। ऐसा भी रासने ने कहा। 

मनपा को 2% राजस्व मिलेगा 

इस संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए रासने ने कहा कि इस योजना को 6 से 12 महीनों के लिए पायलट आधार पर लागू किया जाएगा।  इसके लिए 3-5 हजार दोपहिया इलेक्ट्रॉनिक बाइक  (Electronic bike) उपलब्ध होंगी। ये सभी बाइक कंपनी द्वारा प्रदान की जाएंगी और कंपनी द्वारा निगरानी की जाएगी। इसमें महापालिका का निवेश शून्य है और निगम को 2% राजस्व मिलेगा।  इसके लिए 500 स्थानों का सर्वेक्षण किया गया है।  इस बाइक का प्रति कि.मी. 4 रुपए किराया होगा। रासने ने आगे कहा कि  इसके साथ ही 50-60 CNG मिनी बसें निगम द्वारा खरीदी जाएंगी और PMPL में शामिल की जाएंगी।  इससे राजस्व वृद्धि में मदद मिलेगी। 

इस योजना को 6 से 12 महीनों के लिए पायलट आधार पर लागू किया जाएगा।  इसके लिए 3-5 हजार दोपहिया इलेक्ट्रॉनिक बाइक उपलब्ध होंगी। ये सभी बाइक कंपनी द्वारा प्रदान की जाएंगी और कंपनी द्वारा निगरानी की जाएगी। इसमें महापालिका का निवेश शून्य है और निगम को 2% राजस्व मिलेगा।  

-हेमंत रासने, अध्यक्ष, स्थायी समिति 

शहर सुधार समिति ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। मैंने यह प्रस्ताव समिति के समक्ष रखा था। इससे शहर में पर्यावरण सुरक्षित रहेगा। साथ ही इसे सरकार की मंजूरी मिली है। अब शहर यातायात पुलिस की मंजूरी मिलने के बाद तत्काल प्रकल्प शुरू किया जा सकता है। 

– अमोल बालवड़कर, पूर्व अध्यक्ष, शहर सुधार समिति