पुणे के नवनियुक्त पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने संभाला पदभार

पुणे. नवनियुक्त पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने रविवार को आयुक्तालय में आकर पुणे पुलिस की कमान संभाल ली है. निवर्तमान पुलिस आयुक्त डॉ. के. व्यंकटेशम से उन्होंने पुणे पुलिस आयुक्त पद का कार्यभार स्वीकारा. संवाददाताओं की गई दो टूक बातचीत में गुप्ता ने बेसिक पुलिसिंग तथा तकनीक के इस्तमाल पर जोर देने की बात कही. 

उन्होंने कहा कि पुणे शहर सुंदर है. सांस्कृतिक शहर के साथ अब इसे आईटी हब के तौर पर भी जाना जाता है. यहां काम करने का मौका मिलना मेरा सौभाग्य है.

सभी उपक्रम यथावत जारी रहेंगे

पूर्व आयुक्त डॉ. व्यंकटेशम द्वारा शुरू किए गए सभी उपक्रम आगे भी जारी रहेंगे. इसके अलावा और भी कई नए उपक्रम शुरू किए जाएंगे. शहर में कानून व्यवस्था को बरकरार रखने के लिए बेसिक पुलिसिंग पर जोर दिया जाएगा. नए पुलिस आयुक्त ने पुलिस के काम में अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल को भी बढ़ावा देने की बात भी कही. अगले 4 से 5 दिन शहर पुलिस दल के विविध घटकों का अध्ययन कर पूरी जानकारी लेने के बाद अगली रूपरेखा तय की जाएगी. यह भी गुप्ता ने स्पष्ट किया.

वाधवान भाइयों की मदद से घिरे थे विवादों में

गौरतलब हो कि अमिताभ गुप्ता इससे पहले गृह विभाग के प्रधान सचिव (विशेष) थे. वे इसी साल सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने कोरोनाकाल में यस बैंक और पंजाब एवं महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक से जुड़े घोटालों को लेकर छानबीन के दायरे में आए दो कारोबारी भाइयों- कपिल और धीरज वधावन को पुणे के पास खंडाला से सातारा जिला स्थित महाबलेश्वर जाने की अनुमति दी थी. करप्शन केस के दोनों संदिग्ध भाइयों को ट्रैवल परमिट दिए जाने के मामले पर हंगामा मचने के बाद गुप्ता को अनिवार्यत: अवकाश पर भेज दिया गया था.

कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी हैं गुप्ता : गृहमंत्री

इसके बाद में एक समिति, जिसने जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी थी, की सिफारिश पर उनका अवकाश रद्द कर दिया गया. रविवार को गृह मंत्री अमित देशमुख भी पुणे में थे. उनसे पुणे के नए पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता से जुड़े सवाल के जवाब में कहा कि वाधवान परिवार के मामले में गुप्ता से गलती हुई, उसका समर्थन कदापि नहीं किया जा सकता. हालांकि इस मामले की जांच हो चुकी है और उनके खिलाफ कार्रवाई भी की गई है. गुप्ता एक अच्छे और कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी हैं.

डॉ. देशमुख ने संभाली जिला पुलिस की कमान

2 सितंबर को किए गए आईपीएस अधिकारियों के तबादले के आदेश के अनुसार पुणे जिला पुलिस अधीक्षक संदीप पाटिल को नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली परिक्षेत्र के उपमहानिरीक्षक पद पर तबादला दिया गया. उनकी जगह पुणे जिला पुलिस अधीक्षक पद पर कोल्हापुर जिला अधीक्षक डॉ अभिनव देशमुख का तबादला किया गया. आज उन्होंने भी जिला पुलिस मुख्यालय पहुंच कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मिलिंद मोहिते से पदभार ग्रहण क़िया. संदीप पाटिल के तबादले के बाद मोहिते को जिला पुलिस अधीक्षक का पदभार सौंपा गया था.कोल्हापुर आने से पहले वे भी गढ़चिरौली.के तैनात थे. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में किये गए उल्लेखनीय कार्य की दखल खुद केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय ने ली. कोल्हापुर में कार्यरत रहते उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय का आंतरिक सुरक्षा सेवा मेडल घोषित किया गया. कोल्हापुर में भी उन्होंने काफी उल्लेखनीय काम किया है.