माथाड़ी यूनियन के नाम फिरौती, यूनियन अध्यक्ष  सहित 5 गिरफ्तार

पिंपरी. माथाड़ी यूनियन के नाम पर फिरौती मांगने के आरोप में पिंपरी-चिंचवड़ की म्हालुंगे पुलिस ने एक यूनियन के अध्यक्ष समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

आरोपियों ने एक कंपनी में एक माथाड़ी मजदूर की नियुक्ति दर्शाकर हर महीने 22 हजार रुपए की रंगदारी मांगी थी. कंपनी से शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने जाल बिछाया और रंगदारी लेने के लिए आए आरोपियों को रंगेहाथ पकड़ लिया.

बुलेट और कार भी बरामद

इस कार्रवाई में म्हालुंगे पुलिस ने इस अपराध में इस्तेमाल एक बुलेट और कार भी बरामद की है. गिरफ्तार आरोपियों में ‘वेदांत एंटरप्राइजेस’ नामक माथाड़ी संगठन के अध्यक्ष अजय शंकर कौदरे (39), प्रदीप रामचंदन सोनावणे (32), गणेश दशरथ सोनवणे (33), स्वप्निल अजिनाथ पवार (29) और धोंडिबा उर्फ हनुमंत विनायक वड़जे (32) शामिल हैं. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने कुरुली स्थित एक कंपनी के अधिकारियों को यह कहकर धमकाया कि अगर कंपनी को चलाना है तो उनके संगठन ‘वेदांत एंटरप्राइजेस’ के एक कामगार की कंपनी में नियुक्ति दर्शाएं और उसे प्रत्यक्ष रूप से काम पर लिए बिना उसकी तनख्वाह और अन्य भत्ते या चार्जेस के रूप में कुल 22 रुपये हर महीने दें.

‘देख लेने और विकेट गिराने’ की धमकी  

आरोपियों ने  पैसे न देने पर अधिकारियों को ‘देख लेने और विकेट गिराने’ की धमकी दी. इस बारे में मिली शिकायत के बाद की जांच करते हुए पुलिस ने फिरौती की रकम लेने वालों को दबोचने के लिए कंपनी में जाल बिछाया.जब आरोपी कंपनी में फिरौती लेने पहुंचे, तभी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इस संबंध में म्हालुंगे चौकी में मामला दर्ज किया गया. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 385, 387, 452, 143, 149, 120बी के तहत् मामला दर्ज किया है. इसके साथ ही कंपनी प्रबंधनों से से अपील की कि यदि आरोपियों ने किसी कंपनी या व्यक्ति से इसी तरह फिरौती मांगी है, तो तुरंत म्हालुंगे पुलिस चौकी में जानकारी दें. इस पूरी कार्रवाई को पुलिस निरीक्षक अरविंद पवार, सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोद क्षीरसागर, पुलिस उप-निरीक्षक राहुल भदाने, पुलिसकर्मी राजेंद्र कोनेकरी, संपत मुले, प्रशांत वहील, अमोल बोराटे, शाहनवाज मुलानी, अजय गायकवाड़ व पवन वाजे की टीम ने अंजाम दिया.सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोद क्षीरसागर मामले की जांच कर रहे हैं.