रावण गैंग का सरगना साथी के साथ गिरफ्तार

  • पिस्तौल और कारतूस बरामद
  • चिंचवड़ पुलिस की कामयाबी

पिंपरी. गत 4 साल से डकैती के एक मामले में लगातार फरार चल रहा रावण गैंग का सरगना और उसके साथी काे पिंपरी-चिंचवड़ की चिंचवड़ पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पायी है. पुलिस ने उनके पास से पिस्ताैल और 2 जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. उनके नाम विकी उर्फ अनिरुद्ध राजू जाधव (24) और मन्या उर्फ नंदकिशाेर शेषराव हाड़े (22) हैं. विकी उर्फ अनिरुद्ध पिंपरी-चिंचवड़ की  रावण गैंग का मुखिया है.

चिंचवड़ पुलिस की डिटेक्शन ब्रांच (डीबी) को मुखबिर से जानकारी मिली थी कि 2 लाेग आकुर्डी स्थित गुरुद्वारा चाैक से तहसील कार्यालय की ओर रेल पटरी के नीचे से गुजरने वाली सड़क के पास संदिग्ध स्थिति घूम रहे हैं. इसके बाद पुलिस टीम ने जाल बिछाया और बड़ी कुशलता से उन्हें दबाेच लिया. तलाशी के दाैरान उनके पास से एक देसी पिस्ताैल और 2 जिंदा कारतूसाें सहित 35 हजार रुपये का माल बरामद किया गया. विकी उर्फ अनिरुद्ध जाधव वर्तमान में रावण गिराेह का सरगना है और हाल ही में वह जमानत पर रिहा हुआ है. आराेपी मन्या उर्फ नंदकिशाेर भी पुलिस रिकाॅर्ड में दर्ज अपराधी है तथा विभिन्न पुलिस स्टेशनाें मे उसके खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं.