पुनर्वास की गतिविधियां तेज

  • मेट्रो परियोजना से प्रभावित झोपड़ा धारकों का मामला
  • उपमुख्यमंत्री के सुझाव के बाद मनपा ने की स्वतंत्र अधिकारी की नियुक्ति

पुणे. राज्य के उप मुख्यमंत्री और जिला पालक मंत्री अजीत पवार ने सुझाव दिया है कि मेट्रो परियोजना से प्रभावित झुग्गियों में रहने वालों को मौजूदा स्थिति के बारे में सूचित किया जाना चाहिए और उनके पुनर्वास के लिए सही रास्ता अपनाना चाहिए. उसके अनुसार शिवाजी नगर स्थित बाधितों के पुनर्वसन के लिए महापालिका प्रशासन द्वारा गतिविधियां तेज कर दी गई हैं. मनपा द्वारा उसके लिए स्वतंत्र अधिकारी की नियुक्ति की गई है. मनपा के अतिरिक्त आयुक्त द्वारा हाल ही में यह निर्देश जारी किए गए. 

कई लोग हो रहे प्रभावित 

राजीव गांधी नगर में शिवाजीनगर और मेट्रो प्रोजेक्ट 1, 2 और 3 में श्रमिकों की प्रतिमा से प्रभावित झुग्गीवासियों के पुनर्वास के संबंध में उप मुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में वीवीआईपी सर्किट हाउस में एक बैठक की गई थी. इस समय स्लम धारकों की ओर से स्थानीय पदाधिकारियों और प्रतिनिधियों ने प्रभावित स्लम धारकों के बयान लेकर सुझाव दिए थे. उस पर उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा था कि मेट्रो को प्रभावित झुग्गी निवासियों के बच्चों को उनकी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने का प्रयास करना चाहिए. उन्हें तदनुसार आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान करना चाहिए. साथ ही इस संबंध में अभी से प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए.  प्रभावित झुग्गी निवासियों को मेट्रो मार्गों की योजनाओं को दिखाया जाना चाहिए और पुनर्वास स्थलों की संभावना का पता लगाया जाना चाहिए. 

करना होगा सर्वे 

शिवाजी नगर स्थित बाधितों के पुनर्वसन के लिए महापालिका प्रशासन द्वारा गतिविधिया तेज कर दी गई हैं. मनपा द्वारा उसके लिए उपायुक्त नीति अपना कर स्वतंत्र अधिकारी की नियुक्ति की गई है. साथ ही कई कर्मियों की फ़ौज भी उनके सहायता के लिए दी गई है. मनपा अतिरिक्त आयुक्त द्वारा हाल ही में यह निर्देश जारी किए गए. इसके अनुसार शिवाजी नगर स्थित बाधित क्षेत्र का सर्वे करना, वहां के परिवारों के कागजात जमा कर उसकी जांच करना, बाधितों की अंतिम सूची जारी करना, जैसे काम इन लोगो को तय समय में करने के निर्देश अतिरिक्त आयुक्त रूबल अग्रवाल द्वारा दिए गए.