road sweeper PMC

    पुणे. केंद्र सरकार की ओर से महानगरपालिका को वायू प्रदुषण (Air Pollution) कम करने को लेकर निधि मिला है। साथ ही इससे सम्बंधित काम करने मंजूरी भी दी है। पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) को यांत्रिकी पद्धति से सड़क की सफाई करने के लिए केंद्र द्वारा दो रोड़ स्वीपर दिए गए है। एक स्वीपर की लागत 78 लाख है। हाल ही में इसका उद्घाटन महापौर के हाथों किया गया। 

    महानगरपालिका द्वारा इसका उपयोग घनी बस्तियों के छोटे सड़कों की सफाई करने किया जाएगा। ऐसी जानकारी महानगरपालिका घनकचरा विभाग के प्रमुख अजीत देशमुख ने दी। 

     केंद्र द्वारा मिला है निधि 

    महानगरपालिका के अकाउंट में 15 वे वित्त आयोग के तहत 217 करोड़ रुपए जमा हो चुके है। इसके लिए दो अकाउंट बनाए गए है। एक है जो पर्यावरण एवं हवा प्रदुषण कम कर शहर के हवा में गुणवत्ता में सुधार लाना। उसके लिए मनपा को 134 करोड़ प्राप्त हो चुके है। तो दूसरा घनकचरा और जलापूर्ति योजना से सम्बंधित है जिसमें ड्रैनेज का भी समावेश है। इसके तहत मनपा को 83 करोड़ मिल चुके है। ऐसे 217 करोड़ मिले है। इस पर अमल करने के लिए समन्वय अधिकारी नियुक्त किया है। 

    कचरा उठाने के लिए आवश्यक गाड़िया काफी पुरानी

    समन्वय अधिकारी एवं घनकचरा विभाग के प्रमुख अजीत देशमुख ने कहा कि हवा प्रदुषण से सम्बंधित निधि खर्च करने केंद्र सरकार ने फ़िलहाल रोक लगा दी थी। निधि सिर्फ घनकचरा व जलापूर्ति सम्बंधित योजना पर खर्च किया जाएगा। इसके अनुसार हमने प्रक्रिया शुरू की है। देशमुख ने आगे कहा कि कचरा उठाने के लिए आवश्यक गाड़िया काफी पुरानी हैं। उसके लिए नई गाड़ियां लेने का नियोजन किया जा रहा है। उसके लिए लगभग 30 करोड़ तक का खर्च आएगा।  साथ अतिरिक्त आयुक्त के मार्गदर्शन के अनुसार और प्रकल्प मुहैया किए जाएंगे। 

    मनपा के पास 13 स्वीपर 

    देशमुख ने आगे कहा कि फ़िलहाल महानगरपालिका के पास 13 रोड़ स्वीपर हैं। जिसके माध्यम से शहर के प्रमुख और बड़े सड़कों की सफाई की जाती है, लेकिन छोटे सड़कों की सफाई करने छोटे स्वीपर की आवश्यकता है। केंद्र सरकार की ओर से महापालिका को वायू प्रदुषण कम करने को लेकर निधि मिला है। साथ ही इससे सम्बंधित काम करने मंजूरी भी दी है। महानगरपालिका को यांत्रिकी पद्धति से सड़क की सफाई करने के लिए केंद्र द्वारा दो रोड़ स्वीपर दिए गए है। एक स्वीपर की लागत 78 लाख है। हाल ही में इसका उद्घाटन महापौर के हाथों किया गया। महापालिका द्वारा इसका उपयोग घनी बस्तियों के छोटे सड़कों की सफाई करने किया जाएगा। घोले रोड़ और कोरेगांव पार्क इलाके में पहले इसका इस्तेमाल किया जाएगा। देशमुख ने कहा कि इस यंत्र से 50 कर्मियों का काम हल्का हो जाएगा। साथ ही सफाई करते समय प्रदुषण भी नहीं होगा।