संग्राम देशमुख ने पर्चा भरा

  • स्नातक की समस्याओं को निपटाएंगे भाजपा उम्मीदवार
  • भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दिलाया भरोसा

पुणे. एक अपवाद को छोड़ दें तो पुणे स्नातक विधान परिषद सीट परंपरागत रूप से भारतीय जनता पार्टी की ही रही है. पिछले 12 वर्षों में स्नातकों के लिए बहुत कुछ किया है. भाजपा के उम्मीदवार भविष्य में स्नातकों की समस्याओं को हल करने के लिए काम करेंगे. ऐसा भरोसा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने  दिया.  भाजपा के संग्राम देशमुख ने पुणे स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से अपनी उम्मीदवारी दाखिल की. उसके बाद पाटिल ने मीडिया से बातचीत की.

इस समय सांसद गिरीश बापट, भाजपा शहर अध्यक्ष जगदीश मुलिक, महापौर मुरलीधर मोहोल, विधायक भीमराव तपकीर, मुक्ता तिलक, रंजीत पाटिल, सिद्धार्थ शिरोले, लक्ष्मण जगताप, पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल,  सभी भाजपा पदाधिकारी उपस्थित थे.

 स्नातकों के लिए बेहतर काम किया

पाटिल ने कहा कि पुणे स्नातक की सीट परंपरागत रूप से भारतीय जनता पार्टी के पास है. मैंने पिछले 12 वर्षों से इस निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया है. इस अवधि के दौरान स्नातकों के कई प्रश्न हल किए गए थे. यह मुख्य रूप से यूपीएससी और एमपीएससी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए राज्य स्तर पर मार्गदर्शन केंद्र स्थापित किया गया था. मैंने स्वयं विद्याप्रबोधिनी नामक कोल्हापुर में एक प्रतियोगी परीक्षा केंद्र शुरू की. उसी समय वह स्नातक मतदाता सूचियों के मुद्दे को हल करने के लिए दिल्ली गए. उन्होंने कहा कि भाजपा के 3 स्नातक उम्मीदवार जिनमें संग्राम देशमुख शामिल हैं और अमरावती शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र और पुणे स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार हैं, सभी शिक्षकों और स्नातकों के सवालों को विधान परिषद में उठाएंगें. आने वाले समय में आरक्षण की समस्याओं को हल करने का प्रयास करना भी आवश्यक है. भाजपा विधायक महाराष्ट्र में बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार भत्ता शुरू करने, शिक्षुता अधिनियम में संशोधन आदि जैसे मुद्दों पर एक साथ काम करेंगे.