Work could not start for metro, waiting for approval

  • महामेट्रो ने जतायी संभावना
  • कंस्ट्रक्शंस से संबंधित कार्य 85% पूरा
  • फिलहाल सौंदर्यीकरण का कार्य जारी

पिंपरी. पुणे मेट्रो (Pune Metro) के पिंपरी में संत तुकारामनगर मेट्रो स्टेशन का कार्य तेजी से जारी है। फिलहाल स्टेशन के सौंदर्यीकरण का कार्य शुरू किया गया है। कार्य शीघ्र पूर्ण करने व उसे कार्यरत करने का प्रयास महामेट्रो द्वारा किया जा रहा है। यह ‘रीच वन’ एवं ‘रीच टू’ प्रोजेक्ट का पहला स्टेशन होगा। पिंपरी-चिंचवड़ में दापोड़ी के हैरिस ब्रिज से चिंचवड़ के मदर टेरेसा फ्लाइओवर तक 7.5 किलोमीटर लंबाई वाले मेट्रो रूट का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है।

मजदूरों के वापस लौटने से काम में तेजी 

लाकडाउन में कर्मचारियों के अपने गांव चले जाने की वजह से कम हुई कार्य की रफ्तार उनके लौट आने से फिर तेज होने लगी है। पिंपरी, मोरवाड़ी, कासारवाड़ी, फुगेवाड़ी व दापोड़ी में काम सकारात्मक रूप से चलने लगा है। दापोड़ी से मोरवाड़ी चौक तक स्पैन लगाए जा चुके हैं और पटरियां भी बिछाई जा चुकी हैं। मेट्रो रूट पर खड़े किए गए पिलर्स पर बिजली के तार जोड़ने व सिग्नल सिस्टम के कार्य जारी हैं।

6 स्टेशनों के काम एक साथ जारी

इस रूट पर पिंपरी-चिंचवड़ मनपा भवन, संत तुकारामनगर, नासिक फाटा चौक, कासारवाड़ी, फुगेवाड़ी व दापोड़ी आदि 6 स्टेशनों के कार्य एकसाथ शुरू किए गए हैं। सभी स्टेशन शीघ्र बनाए जाने की योजना महामेट्रो ने बनाई है। इस वजह से बड़ी संख्या में मजदूर काम करते हुए देखे जा सकते हैं।

वर्तमान स्थिति के मद्देनजर उन छह स्टेशनों  में से संत तुकारामनगर व फुगेवाड़ी स्टेशन सबसे पहले तैयार हो जाएंगे। संत तुकारामनगर स्टेशन के अंदर का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है। अब बाहर दोनों तरफ सौंदर्यीकरण का कार्य जारी है। स्टेशन के दोनों ओर लिफ्ट, एलिवेटर, स्टेयरकेस, फूट ब्रिज आदि कार्य करीब-करीब पूरे हो चुके हैं। यात्रियों के लिए टिकट विंडो व अन्य सुविधाएं कार्यरत हो चुकी हैं।

शेष कार्य डेढ़ से दो महीने में होंगे पूर्ण

पूर्ण संत तुकारामनगर स्टेशन के कंस्ट्रक्शंस से संबंधित कार्य 85% से ज्यादा पूर्ण हो चुके हैं। शेष कार्य डेढ़ से दो महीने में पूर्ण हो जाएंगे। महामेट्रो के अधिकारियों ने बताया कि स्टेशन में स्पीकर सिस्टम, नाम का बोर्ड, जांच, सुरक्षा व सिग्नल सिस्टम आदि तकनीकी सौंदर्यीकरण के कार्य कुछ जटिल हैं। इस वजह से इनके लिए कुछ ज्यादा समय लग सकता है।