पर्यटकों के लिए शनिवारवाड़ा खोलने की चेतावनी

पुणे. राज्य में अनलॉक जारी होते हुए बंद होने वाली सभी बातों को धीरे-धीरे खोलने की परमिशन दी जा रही है. राज्य के धार्मिक स्थानों और ऐतिहासिक स्थलों को भी शुरू करने राज्य सरकार ने परमिशन दी है. लेकिन ऐसा होते हुए शहर के सैलानियों का प्रमुख आकर्षण शनिवारवाडा को अब तक खोला नहीं गया है.

इस बंद शनिवारवाडा को तत्काल खोलने की मांग ब्राह्मण महासंघ की ओर से की गई है. पुरातत्व विभाग द्वारा बंद शनिवारवाड़ा न खोलने पर ब्राह्मण महासंघ के पदाधिकारी स्वयं शनिवारवाडा खोलगे. यह चेतावनी भी दी गई है.

 पुरातत्व विभाग की नींद अब तक नहीं खुली 

महासंघ के आनंद दवे ने कहा कि लॉकडाउन के आखिर के चरण में सभी धार्मिक स्थानों के साथ ऐतिहासिक धरोहरों को खोलने केंद्र सरकार द्वारा परमिशन दी गई है. केंद्र सरकार के बाद राज्य सरकार ने भी धार्मिक और ऐतिहासिक स्थानों को खोलने की परमिशन दी गई है. लेकिन पुरातत्व विभाग की नींद अब तक नहीं खुली है. इसलिए शहर का शनिवारवाड़ा अभी तक बंद है, दिवाली के अवसर पर या अन्य किसी कारणों से अन्य शहरों के लोग पुणे शहर में आने पर शनिवारवाड़ा देखने की इच्छा होती है, लेकिन अब वह बंद होने से देखने का मौका नहीं मिल रहा है. यह पुणेवासियों का अपमान है. यह हम मानते है. इसलिए शनिवारवाडा तुरंत पर्यटकों के लिए खोलने की हमारी मांग है. इस बारे में पुरातत्व विभाग को आवेदन दिया जाएगा. उसके बाद अगले दो दिनों में पुरातत्व विभाग द्वारा शनिवारवाड़ा न खोलने पर हम आगे बढ़ कर पर्यटकों के लिए शनिवारवाड़ा खोलने की चेतावनी दी गई है.

प्रतिक्षा का आग्रह

इस दौरान पुरातत्व विभाग के अधिकारियों द्वारा बताया गया है कि वरिष्ठ अधिकारी दीपावली के कारण छुट्टी पर है. अतः 4 दिनों तक प्रतीक्षा करने का आग्रह किया गया है.