Prithviraj Sutar

    पुणे. पीएमपीएमएल (PMPML) और  महानगरपालिका प्रशासन (Municipal Administration) द्वारा शहर में पीएमपीएमएल  (Pune Mahanagar Parivahan Mahamandal Ltd) के तहत दिन भर यात्रा करने के लिए 10 रुपए शुल्क की योजना लागू की है।  इसका लाभ भी नागरिक उठा रहे है। लेकिन  उसके लिए नागरिकों को पहचान पत्र अनिवार्य किया है। इस पर शिवसेना ने आपत्ति जताई है, पहचान पत्र का बंधन हटाए वरना शिवसेना (Shiv Sena) द्वारा आंदोलन किया जाएगा। ऐसी चेतावनी शिवसेना गुटनेता पृथ्वीराज सुतार (Prithviraj Sutar) ने दी है।  

    मुफ्त करें योजना 

    ज्ञात हो कि स्थायी समिति अध्यक्ष हेमंत रासने की पहल से शहर में पीएमपीएमएल की दस में बस योजना शुरू की है। जिसके तहत नागरिक दिन भर मध्यवर्ती इलाके में यात्रा कर सकते है। इस योजना को काफी प्रतिसाद भी मिलता हुआ दिख रहा है।  लेकिन इसको लेकर शिवसेना गुटनेता पृथ्वीराज सुतार ने आपत्ति जताई है।  सुतार के अनुसार पीएमपीएमएल द्वारा यह योजना तो शुरू की गई, लेकिन इससे नागरिको को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यात्रियों को अगर इस सेवा का फायदा लेना हो तो उसके लिए नागरिकों को पहचान पत्र अनिवार्य किया है। जिसके पास नहीं उसे यात्रा करने के लिए नाकारा जा रहा है। साथ ही ऐसे लोंगो को बस से उतारा जा रहा है। सुतार के अनुसार यह गलत है, साथ ही पुणेकरों का अपमान हो रहा है।

    शिवसेना ने इस  बात को गंभीरता से लिया है।अगर यह बंधन नहीं हटाया तो शिवसेना द्वारा आंदोलन किया जायेगा, ऐसी चेतावनी सुतार ने  पीएमपी के सीएमडी को दी है। सुतार ने आगे कहा कि यह योजना शुरू रखने के लिए पीएमपीएमएल को जितना खर्चा आ रहा है उससे 25% ज्यादा राशि पीएमपीएमएल को महानगरपालिका  द्वारा दी जाएगी।  लेकिन यह सेवा पुणेकरो के लिए मुफ्त में दी जाए, ऐसी मांग भी सुतार द्वारा की गई है।

    वहीं इस मुद्दे पर  जब पीएमपीएमएल प्रशासन से पूछा तो बताया गया कि एक यात्री का टिकट दूसरा कोई इस्तेमाल न कर पाए, इस वजह से हम कोई भी पहचान पत्र मांगते है। ताकि पीएमपी का नुकसान न हो और नागरिक इसका गैर इस्तेमाल ना करें।  

    पीएमपीएमएल और महापालिका प्रशासन द्वारा शहर में पीएमपी के तहत दिन भर यात्रा करने के लिए 10 रुपए शुल्क की योजना लागू की है। इसका लाभ भी नागरिक उठा रहे है, लेकिन उसके लिए नागरिकों को पहचान पत्र अनिवार्य किया गया है। पहचान पत्र का बंधन हटाए वरना शिवसेना द्वारा आंदोलन किया जाएगा। साथ ही यह सेवा मुफ्त करने की हमारी मांग है।

    - पृथ्वीराज सुतार, गुटनेता, शिवसेना