जमीन विवाद में एक महिला का परिवार समेत सामाजिक बहिष्कार

  • 1 लाख नकद, 5 शराब की बोतलें, 5 बकरों की सजा

पुणे. जाति पंचायत द्वारा दी जाने वाली हैरतअंगेज सजा और दंड के मामलों की कड़ी में पुरोगामी पुणे में नया मामला जुड़ गया है। इसमें जमीन से जुड़े एक विवादित मामले में एक महिला को उसके परिवार के साथ एक साल के लिए समाज से बाहर कर दिया गया। यही नहीं इस परिवार को एक लाख नकद, 5 शराब की बोतलें, 5 बकरों की सजा भी सुनाई है, जो न देने की सूरत में सामाजिक बहिष्कार को आगे भी कायम रखने की चेतावनी भी दी गई है।

रूढ़िवादी परंपरा और अंधश्रद्धा की आड़ में पुरोगामी पुणे शहर में यह मामला सामने आया है। इस बारे में भारती विद्यापीठ पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल इस मामले की जांच को पुणे ग्रामीण पुलिस के सासवड पुलिस थाने में वर्ग किया गया है। बताया जा रहा है कि संबंधित महिला ने जमीन के विवाद में जाति पंचायत द्वारा किये गए निपटारे को मानने से मना कर दिया था। इसके चलते पंचायत ने महिला और उसके परिवार को एक साल के लिए समाज से बाहर कर दिया। सामाजिक बहिष्कार के साथ ही उसे एक लाख रुपये नकद, शराब की 5 बोतलें और 5 बकरे देने की सजा भी सुनाई है। यह सब न देने की सूरत में सामाजिक बहिष्कार को आगे भी कायम रखने की चेतावनी भी दिए जाने की खबर है।