निर्णय के खिलाफ भरी बरसात में अनशन पर विद्यार्थी

पिंपरी. एक तरफ वापसी की बारिश ने समस्त पुणे जिले को झकझोर कर रख दिया है, वहीं दूसरी तरफ भारी बारिश में बेमियादी अनशन पर बैठे युवक सभी का ध्यानाकर्षित किए हुए हैं. 

पिंपले निलख स्थित पिंपरी-चिंचवड़ मनपा के जलशुद्धिकरण केंद्र ठेकेदार को किराए पर देने के फैसले के खिलाफ रयत विद्यार्थी परिषद के युवा कार्यकर्ता गत 2 दिन से बेमियादी अनशन पर बैठे हैं.दो दिन से लगातार जोरदार बारिश हो रही है इसके बावजूद इन युवाओं के हौसले कहीं कम नहीं नजर आए.

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

मनपा मुख्यालय के सामने भरी बरसात में भीगते हुए इन युवकों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.अनशन करनेवाले युवाओं में रयत विद्यार्थी परिषद के सचिव रविराज काले, ऋषिकेश कानवटे शामिल हैं.बारिश के पानी में भीगते हुए अनशन कर रहे ये युवक जलप्रदूषण जैसे गंभीर मसले को लेकर आंदोलन में जुटे रहने के चलते पूरे शहर में चर्चा का विषय बने हुए हैं.अपने अनशन के जरिये उन्होंने पिंपले निलख स्थित जलशुद्धीकरण केंद्र ठेकेदार को सौंपने की बजाय पूरी तरह से मनपा द्वारा चलाए जाने की मांग की है.इसके अलावा मैला पानी को बिना प्रक्रिया किये नदी में छोड़ने के मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ फौजदारी मामला दर्ज कराने, श्री विनय इंजीनियरिंग प्रा.लि कंपनी को ब्लैक लिस्ट में शामिल करने, इस पूरे मामले में पर्यावरण विभाग के कार्यकारी अभियंता संजय कुलकर्णी की जिम्मेदारी तय कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग उन्होंने की है.