The camera was installed in the revelations even a week ago, the accused confessed his crime in fron

    पुणे. पुणे (Pune) के भारती विश्वविद्यालय कैंपस (Bharati University Campus) में एक ट्रेनी महिला डॉक्टर (Female Doctor) के बाथरूम (Bathroom) और बेडरूम (Bedroom) में स्पाई कैमरा (Spy Camera) लगाने का चौंकाने वाला मामला हाल ही में सामने आया था। इस मामले में गिरफ्तार डॉ. सुजित आबाजीराव जगताप (Dr. Sujit Abajirao Jagtap) से की गई पूछताछ में यह सामने आया है कि भले ही इस मामले का खुलासा 6 जुलाई को हुआ हो, लेकिन डॉक्टर ने उससे एक हफ्ते भी पहले उसी कमरे में स्पाई कैमरे से शूट करने की कोशिश की थी। 

    भारती विद्यापीठ पुलिस के अनुसार, डॉ. सुजीत जगताप इस कॉलेज में हमेशा लेक्चर देने आता था। इस दौरान यहां पढ़ रही ट्रेनी महिला डॉक्टर से उसका परिचय हुआ। इसी पहचान का फायदा उठाकर जगताप ने महिला डॉक्टर के कमरे की चाबी से दूसरी चाबी बनवा ली थी। इसके बाद उसने एक कैमरा बल्ब खरीदा। महिला डॉक्टर को अस्पताल में देखकर वह नकली चाबी लेकर उसके कमरे में घुस गया और स्पाई कैमरे बेडरूम और बाथरूम में लगा दिए। फिर अगले दिन वह फिर से चोरी से उनके कमरे में चला गया और कैमरे के साथ बल्ब निकाल ले गया। इसके बाद उन्होंने घर आकर चेक किया।

    डॉ. जगताप ने जब कैमरे की रिकॉर्डिंग चेक की तो पता चला कि इसमें कुछ भी रिकॉर्ड नहीं हुआ। रिकॉर्डिंग नहीं होने पर 6 जुलाई को वह दोबारा महिला डॉक्टर के कमरे में दाखिल हुआ और स्पाई कैमरा वाला बल्ब लगा दिया। लाइट में कुछ खराबी थी, जिसके बाद महिला डॉक्टरों ने एक इलेक्ट्रीशियन को बुलाया। तब स्पाई कैमरा का सच सबके सामने आया। इस डॉक्टर ने कैमरा खरीदकर सेटिंग चेक की थी। उसने इसकी रिकॉर्डिंग भी कर ली थी। रिकॉर्डिंग स्पाई कैमरे में मिली और पुलिस को सौंप दी गई। पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया। बहरहाल इतना शांत रहने वाला यह डॉक्टर कुछ ऐसा करेगा, ऐसा इस कॉलेज की महिला और पुरुष प्रशिक्षुओं को अंदाजा नहीं किया था। इसलिए जब गिरफ्तार किया गया तब प्रशिक्षुओं और उसके पास इलाज के लिए आने वाले मरीजों को एक बड़ा झटका लगा।