Drown
Image: Google

    सांगली. बारिश (Rain) की शुरुआत के साथ ही ग्रामीण अब मछली पकड़ने की ओर आकर्षित हो रहे हैं। हालांकि सांगली (Sangli) में मछली (Fishing) पकड़ने की वजह से एक परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मछली पकड़ने गए दो सगे भाई और एक चचेरे भाई की तालाब में डूब (Drown) कर मौत (Death) हो गई। सोमवार को उनमें से एक का शव मिला है, जबकि अन्य दो भाइयों का शव ढूंढने का काम जारी है।

    टेंभू जलयोजना का पानी घाणंद झील में आया है। तालाब भर कर नालों से पानी बह रहा था। नाले से निकलने वाला पानी नहर से आटपाडी में आता है। इसके बगल में अंकुश व्हनमाने और लहू व्हनमाने की कृषि भूमि है। यहीं पर नहर से पानी बह रहा था।हमेशा की तरह रविवार को दोपहर 3 बजे विजय अंकुश व्हनमाने, आनंद अंकुश व्हनमाने दोनों अपने चचेरे भाई वैभव लहू व्हनमाने अपने कुत्ते के साथ मछली पकड़ने गया था। शाम छह बजे तक वे घर नहीं लौटे। तो उनके परिवार और पड़ोसियों ने तलाश शुरू कर दी।

    अंधेरे में बच्चों की तलाश शुरू हुई

    रात 8 बजे घाणंद झील से निकली नहर के पास विजय और आनंद के कपड़े और चप्पल मिले। अपने साथ ले गए कुत्ते का शव नहर के पानी में मिला। वैभव के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। ग्रामीणों ने आटपाडी पुलिस और राजस्व प्रशासन को सूचना दी। रात साढ़े आठ बजे तहसीलदार सचिन मुलिक और पुलिस निरीक्षक भानुदास निंभोरे मौके पर पहुंचे। पुलिस और ग्रामीणों ने काफी देर तक पानी में ढूंढा, लेकिन पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण बच्चों का कुछ पता नहीं चला। पानी में बच्चों की तलाश के लिए सब मरीन सांगली से पहुंची थी। अंधेरे में बच्चों की तलाश शुरू हुई। घटना से गांव और तालुका में हड़कंप मच गया। रात के बाद बचाव दल ने आज सुबह जोरदार तलाशी अभियान शुरू किया। तीन भाइयों में से वैभव व्हनमाने के चचेरे भाई का शव मिला है। अंकुश व्हनमाने और लहू व्हनमाने के शव अभी तक नहीं मिले हैं।