खडकवासला जलाशय में मूसलाधार बारिश जारी, 0.50 टीएमसी की वृद्धि

पुणे. बुधवार रात खडकवासला परियोजना के सभी चारों बांधों के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश हुई.  नतीजन, परियोजना की उपयोग योग्य पानी की आपूर्ति में लगभग 0.50 टीएमसी की वृद्धि हुई है. गुरुवार की सुबह से खडकवासला बांध का निर्वहन 3,420 क्यूसेक पर शुरू किया गया था. जो श्याम चार बजे 5136 क्यूसेक कर दिया गया. जल संसाधन विभाग ने नदी के किनारे के सभी गांवों को अलर्ट कर दिया है.

लगातार बारिश जारी 

खडकवासला परियोजना के चार बांधों में उपयोगी जल संग्रहण 29.11 TMC (99.60 प्रतिशत) है.  पिछले साल, परियोजना में 28.15 टीएमसी (96.56 प्रतिशत) का जल संग्रहण था.  खडकवासला, पानशेत  और वरसगांव बांध पूरी क्षमता पर हैं. टेमघर बांध भी लगभग भर चुका है. सिंचाई विभाग ने बताया कि  डैम से 1,950 क्यूसेक का निर्वहन शुरू किया गया था. बाद में निर्वहन 3,420 क्यूसेक पर शुरू किया गया था. जो श्याम चार बजे 5136 क्यूसेक कर दिया गया. 

जलाशय क्षेत्र में 137 मिमी बारिश दर्ज

खडकवासला बांध के जलग्रहण क्षेत्र में रात भर में अधिकतम 137 मिमी बारिश हुई. पांनसेत  में 97 मिमी, वरसगाँव में 94 मिमी और टेमघर बांध के जलग्रहण क्षेत्र में 113 मिमी वर्षा दर्ज की गई. 

जिले में भी भारी बारिश 

बुधवार को जिले में हुई बारिश के कारण भीमा घाटी में बांधों से पानी की संचय में वृद्धि हुई है. कुल 26 बांधों में से 20 बांधों में 100 फीसदी पानी का भंडारण है. शेष पिंपलगाँव जोग और मनिकदोह बाँधों में लगभग 50 प्रतिशत जल भंडारण है, जबकि अन्य चार बाँधों में लगभग 90 से 95 प्रतिशत जल भंडारण है. उजनि  बांध से भीमा नदी में एक लाख 86 हजार क्यूसेक और वीर बांध से नीरा नदी में 45 हजार 771 क्यूसेक पर डिस्चार्ज शुरू किया गया है.