114 गांवों में ट्रैक्टर से सैनिटाइजेशन

  • कोरोना से बचाव के लिए स्वच्छता अभियान

पुणे. कोरोना काल में स्वच्छता और सेनेटाइजेशन जरूरी हो गया है. ऐसे में गांवों का सेनेटाइजेशन कैसे करें यह समस्या पैदा हो गई है. पर इसका तरीका जिला परिषद ने ढूंढ लिया है. 

मंचर के पास 114 गांवों में ट्रैक्टर के जरिए सेनेटाइजेशन का काम किया जा रहा है. इन गांवों की स्वच्छता के लिए जिला परिषद, को सीएनएच इंडस्ट्रियल के ब्रांड न्यूहॉलैंड एग्रीकल्चर ने अपना सहयोग दिया है.  

मंत्री दिलीप वलसे पाटिल रहे मौजूद

हाल ही में दिलीप वालसे पाटिल (आबकारी और श्रम मंत्री, महाराष्ट्र), अनिल देशमुख – बीडीओ पुणे, जिला परिषद, पुणे कृषि अधिकारी और देवेंद्र शाह, चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, पराग मिल्क फूड्स की उपस्थिति में मंचर में वितरण समारोह आयोजित किया गया. जिनका स्वागत कंपनी के पुणे प्लांट हेड किशोर देओल, शीतल सालुंके, साइट एचआर और श्रीपाद देशपांडे ने किया. इस अवसर पर देओल ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हमारा सालिडरिटी सैनिटेशन प्रोजेक्ट निश्चित रूप से समय की मांग है. हमें गर्व है कि हमारे ट्रैक्टर इस नेक काम में इस्तेमाल होंगे और हम इस पहल को सफल बनाने के लिए हर संभव समर्थन देंगे. उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर के साथ स्प्रेयर लगे हैं जो सार्वजनिक स्थानों के कोने-कोने तक पहुंचने के लिए डिजाइन किए गए हैं.हम इस जानलेवा खतरे से सरकार और समुदायों की लड़ाई आसान करना चाहते हैं.