Ultimately the resignation of Deputy Maharaja Saraswati Shendge

    पुणे. आख़िरकार पार्टी द्वारा उपमहापौर (Deputy mayor) सरस्वती शेंडगे (Saraswati Shandge) से इस्तीफा (Resignation) लिया गया है। विगत कई दिनों से उन्हें हटाने को लेकर चर्चा हो रही थी, लेकिन निर्णय नहीं हो रहा था। आख़िरकार सभागृह नेता द्वारा शेंडगे का इस्तीफा लिया गया। अब भाजपा (BJP)के नीतिनुसार यह पद आरपीआई (RPI) के नगरसेवक को मिलेगा, ऐसा माना जा रहा है। उधर, स्थायी समिति अध्यक्ष (Standing Committee Chairman) पद ना मिलने से नाराज हुई नगरसेविका वर्षा तापकीर को भी यह पद दिया जा सकता है, ऐसा कहा जा रहा है। 

    ज्ञात हो कि विगत साल से भाजपा द्वारा मनपा के पदाधिकारियों में बदलाव करने को लेकर तेज हलचल की जा रही थी। स्थायी समिति अध्यक्ष, सभागृह नेता से लेकर महापौर और उपमहापौर पद के बदलाव को लेकर जोरदार चर्चा की जा रही थी, लेकिन असल में इसमें से सिर्फ सभागृह नेता का पद बदल दिया गया था। धीरज घाटे को हटाकर इस पद पर गणेश बिड़कर को अवसर दिया गया है। 

    वर्षा तापकीर या सुनीता वाडेकर? 

    इसी अवसर पर उपमहापौर पद के बदलाव की भी चर्चा थी। साथ ही यह पद आरपीआई नगरसेविका को दिया जाएगा। ऐसा भी तय हुआ था, लेकिन इस पर मुहर नहीं लगी थी। आख़िरकार शेंडगे को पद से हटना पड़ा है। उनके कामकाज को लेकर पार्टी में नाराजगी थी। ऐसा कहा जाता है। अब इस पद पर आरपीआई की नगरसेविका को अवसर दिया जाएगा। ऐसा सूत्रों का मानना है। उधर, यह भी चर्चा है कि स्थायी समिति अध्यक्ष पद ना मिलने से नाराज हुई नगरसेविका वर्षा तापकीर को भी यह पद दिया जा सकता है क्योंकि तापकीर काफी नाराज चल रही है। उनकी नाराजगी दूर करने के लिए भी यह पद उन्हें दिया जा सकता है।