अंतिम वर्ष की परीक्षाओं पर पुणे विश्वविद्यालय ने लगाई रोक

पुणे. सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय ने अंतिम वर्ष की परीक्षाओं पर रोक लगा दी है. विश्वविद्यालय ने गैर-शिक्षा कर्मचारियों के हड़ताल, परीक्षा की तारीखों का अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के साथ टकराव सहित कई कारणों की वजह से अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. अब सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 12 अक्तूबर से आयोजित होंगी. पहले ये परीक्षाएं 5 अक्तूबर से होनी थी. हालांकि, अभी परीक्षाओं की संशोधित समय सारणी जारी नहीं की गई है.

विश्वविद्यालय द्वारा 1 अक्टूबर से शुरू होने वाली बैकलॉग छात्रों की परीक्षाओं को भी स्थगित किया गया है. विश्वविद्यालय के बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन एंड मूल्यांकन के निदेशक महेंद्र ककाडे का कहना है कि स्थगित की गई अंतिम वर्ष की परीक्षाओं का आयोजन 12 अक्तूबर से किया जाएगा. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के साथ ही अन्य यूपीएससी, एमपीएससी और एनईटी जैसी परीक्षाएं भी होनी थी, इसलिए विश्वविद्यालय के अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को स्थगित किया गया है.

सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं एक घंटे की करानी की योजना थी. परीक्षा में 50 अंकों के बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे.इन परीक्षाओं के लिए विश्वविद्यालय ने लगभग 3300 विषयों के लिए प्रश्नपत्र सेट कर लिए थ.अंतिम वर्ष की इन परीक्षाओं को विभिन्न कॉलेजों के कुल 3.64 लाख छात्र देने वाले थे, जिनमें से 2.23 लाख छात्र नियमित हैं.विश्वविद्यालय की तरफ से स्पष्ट किया गया है कि, परीक्षाओं की संशोधित समय सारणी जल्द ही जारी की जाएगी.