Ajit Pawar

 – उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का प्रशासन को निर्देश

पुणे. कोरोना विषाणु का प्रसार रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन को जनप्रतिनिधियों को साथ लेकर उनके द्वारा सुझाए गए उचित सुझावों का पालन अधिकारी करें. उक्त निर्देश उपमुख्यमंत्री तथा पुणे जिले के पालकमंत्री अजीत पवार ने दिए. विभागीय आयुक्त कार्यालय में कोरोना प्रादुर्भाव निर्मूलन की समीक्षा बैठक ली  गई. इसमें राकां के वरिष्ठ नेता शरद पवार तथा गृहमंत्री अनिल देशमुख, सार्वजनिक स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे  प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

इस बैठक में  महापौर मुरलीधर मोहोल, सांसद गिरीश बापट, श्रीरंग बारणे,  वंदना चव्हाण, अमोल कोल्हे  के साथ सभी विधायक भी  उपस्थित थे. विभागीय आयुक्त डॉ. दीपक म्हैसेकर, जमाबंदी आयुक्त एस. चोकलिंगम, जिलाधिकारी नवल किशोर राम, पुणे मनपा आयुक्त शेखर गायकवाड, पिंपरी-चिंचवड के मनपा आयुक्त श्रावण हर्डीकर, पुलिस आयुक्त डॉ. के.व्यंकटेशम,  संदीप बिष्णोई, शक्कर आयुक्त सौरभ राव, पीएमआरडीए के आयुक्त विक्रम कुमार, सहकार आयुक्त अनिल कवडे, पशुसंवर्धन आयुक्त सचिंद्र प्रताप सिंह, भूजल सर्वेक्षण व विकास यंत्र के  संचालक कौस्तुभ दिवेगांवकर अदी वरीष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

जिम्मेदारियों का पालन करें 

इसमें पवार ने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा सुझाई गए निर्देश को लेकर विभागीय आयुक्त, जिलाधिकारी, पुणे व पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका आयुक्त नियमित रूप से जनप्रतिनिधियों से संपर्क करें. उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी दी गई जिम्मेदारियों का पालन करें. प्रतिबंधित क्षेत्रों में  कोरोना का  संसर्ग रोकने के लिए कडक निर्बंध लगाएं. उन्होंने कहा कि कोरोना की लडाई में पुणे महानगरपालिका ने  वित्तीय भार वहन किया है. इस संबंध में मुख्यमंत्री से चर्चा कर उचित निर्णय लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना पर प्रतिबंध के लिए कैन्टोमेंट बोर्ड के लिए और एक करोड रुपए की निधि दी जाएगी.