red, orange and green zone

    पिंपरी.  कोरोना महामारी का प्रकोप पिंपरी चिंचवड़ में तेजी से फैल रहा है। आए दिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। बीते दो दिनों से शहर में रोजाना 1400 से अधिक मरीज मिल रहे हैं। इसकी रोकथाम के लिए मनपा प्रशासन ने कड़े कदम उठाने की शुरूआत कर दी है। 

    मरीजों की संख्या के मुताबिक हाऊसिंग सोसाइटी, बस्ती और कालोनियों को येलो, ऑरेंज और रेड जोन में वर्गीकृत किया जा रहा है। इसके साथ ही महामारी की रोकथाम के लिहाज से लागू किए गए नियमों का उल्लंघन करनेवालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए क्षेत्रीय कार्यालय स्तर पर आठ उड़न  दस्ते गठित किए गए हैं।

    इलाके में लगाए जाएंगे जोन के बोर्ड

    मनपा कमिश्नर राजेश पाटिल ने बताया कि शहर में कोरोना के मिलनेवाले पॉजिटिव मरीजों की संख्या के अनुसार इलाकों का वर्गीकरण किया जा रहा है। इसमें इलाके की आबादी के अनुपात में 5 फीसदी से कम मरीजों वाले इलाके को येलो जोन, आबादी के 5 से 20 फीसद मरीजों वाले इलाके को ऑरेंज जोन और आबादी के 20 फीसदी से अधिक मरीज वाले इलाके को रेडजोन घोषित किया जा रहा है। इन इलाकों में वैसे बोर्ड लगाए जाएंगे और प्रतिबंध सख्त किए जाएंगे।

    कार्रवाई के लिए 8 उड़न दस्ते गठित

    सोशल डिस्टन्टिंग, सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर रोक, मास्क अनिवार्यता, सैनिटाइजर इस्तेमाल जैसे रोकथाम के नियमों का उल्लंघन करने वाले नागरिकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए आठ क्षेत्रीय कार्यालय स्तर पर 8 उड़न दस्ते गठित किए गए हैं।

    8 क्षेत्रीय कार्यालय स्तर पर वॉर रूम, हेल्पलाइन कार्यान्वित

    कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए कड़े प्रतिबंध लगाने के साथ ही उसकी कड़ी अमलबाजी के लिए ये दस्ते कार्यरत रहेंगे। सब्जी मंडी, बाजार, मजदूर अड्डे जैसे भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर इन प्रतिबंधों की अमलबाजी हो रही है या नहीं? इस पर इन दस्तों का नियंत्रण होगा। इन दस्तों में दो पुलिसकर्मी भी शामिल रहेंगे। इसके अलावा पुलिस बल को हर थाना क्षेत्र में गश्त बढ़ाने को कहा गया है, यह भी मनपा कमिश्नर राजेश पाटिल ने बताया। आठ क्षेत्रीय कार्यालय स्तर पर वॉर रूम, हेल्पलाइन कार्यान्वित की जाएगी। मनपा के स्काईसाइन लाइसेंस विभाग की ओर से महामारी के बारे में कोरोना के नियमों के बारे में जनजागृति करनेवाले बोर्ड, होर्डिंग्स आदि लगाए जाएंगे। इसके साथ ही ऑटो रिक्शा में स्पीकर के जरिए भी जनजागृति पर जोर दिया जाएगा।