Convince parents in this way if you want to marry your lover

-सीमा कुमारी 

इंसान का दिल नजाने कब, कहाँ और किससे प्यार कर बैठे. इंसान अपनी जिंदगी में बिजी रहते हुए भी प्यार कर बैठता है. अगर दो लोग एक दूसरे को प्यार करते है तो कोई दिक्कत नहीं होती. लेकिन सबसे बड़ा काम होता है घर वालों को बताना और माता- पिता को मनाना. अपने पार्टनर को माता-पिता से मिलवाने से पहले उसके चेहरे पर खुशी होनी चाहिए. साथ ही उन सवालों के लिए पहले से तैयारी कर लेनी चाहिए, जिनके बारे में माता-पिता पूछ सकते हैं.

  • गार्जियन से बात करने की अभ्यास अवश्य कर लेनी चाहिए. माता-पिता  से बात करते वक्त आवाज ऊंची न करें. गुस्से में न आये, इससे बात बिगड़ जाएगी.
  • उनके मना करने पर भी आप प्राथना ही करें, बहस न करें.
  • अपने माता-पिता को यकीन दिलाएं कि आप एक समझदार और सुलझे हुए व्यक्ति हो और न सिर्फ रिश्ते का महत्व समझते हैं बल्कि सही व्यक्ति की पहचान करने में भी सक्षम हैं.
  • किस बात को कब कहना है ये समझदारी के साथ तय करें, ऐसे विषयों की बात करते वक्त हंसने की स्थिति सही नहीं होती हैं. उन्हें ऐसा महसूस न होने दें कि आपका प्यार बस एक टाइमपास है.
  • माता-पिता  को अपने पार्टनर की विशेषताएं बताएं. ऐसा करने पर वे आपकी बातों को गंभीरता से लेंगे और सुनेगे.  

लड़कियों के लिए ये है महत्वपूर्ण बातें है: ठीक से अधिक वस्तुओं का संग्रह कर आरामदायी जीवन बिताने की चाह में हम अपने रक्त संबंधों तक को भूलते जा रहे हैं. विवाह के पश्चात अपने पति के माता-पिता के प्रति उपेक्षा का भाव ही वृद्धाश्रमों की संख्या में बढ़ोतरी कर रहा है. इसलिए बेहतर होगा कि आप भी अपनी सभी आवश्यकताओं में संतुलन बनाए रखते हुए परिवार को संगठित करके चलें. उसे बिखरने से बचाएँ.