File Photo
File Photo

    -सीमा कुमारी

    हिंदू धर्म में वास्तु-शास्त्र का विशेष महत्व है, क्योंकि, सदियों से ऐसी मान्यता है कि वास्तु के अनुसार कार्य करने से व्यक्ति के जीवन में सुख और शांति आती है। हमारे बेडरूम घर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। वास्तु में शयनकक्ष, यानी बेडरूम के बारे में कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से घर पर हमेशा सुख-समृद्धि और शांति बनी रहती है। कई बार वास्तु के नियमों की अनदेखी होने से बेडरूम शांति वाली जगह नहीं रह जाती। ऐसे में आज जानेंगे बेडरूम से जुड़ी कुछ जरूरी बातों करे बारे में…

    • वास्तु-शास्त्र के अनुसार, बेडरूम में झाड़ू, गंदे कपड़े, जूते जैसी चीजें कभी नहीं रखनी चाहिए। ऐसा ना करने पर माता लक्ष्मी नाराज़ होती हैं। इसलिए इस बात का अवश्य ख्याल रखें।
    • कहा तो ये भी जाता है कि, बेडरूम में आईना कभी नहीं होना चाहिए। यदि है तो सोते वक्त उसे किसी कपड़े से ढक कर सोना चाहिए।
    • वास्तु-शास्त्र के मुताबिक, पलंग बेडरूम के दरवाजे के एकदम नजदीक नहीं होना चाहिए। यदि ऐसा होगा तो मन में अशांति व व्याकुलता बनी रहेगी।
    • पलंग के नीचे कबाड़ या कचरा जैसा सामान या जूते-चप्पल गलती से भी न रखें।
    • ज्योतिष-शास्त्र के अनुसार, बेडरूम में फर्नीचर लोहे का और आकार में धनुषाकार, अर्धचंद्राकार या वृत्ताकार नहीं होना चाहिए। 
    • बेडरूम में प्रकाश हमेशा पीछे या बाईं ओर से आना चाहिए। पलंग पर सिर हमेशा दक्षिण की ओर एवं पैर उत्तर की ओर करके सोना ठीक रहता है।
    • भूलकर भी अशान्ति आदि के चित्र कमरे में न लगाएं। दम्पति के विवाह की तस्वीर कमरे में रखने से आपसी प्रेम बढ़ता है।