Know what every wife expects of her husband on Karva Chauth

-सीमा कुमारी  

करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए रखती हैं. इस व्रत में विवाहित महिलाएं सुबह से निर्जला व्रत रखती हैं फिर रात को चंद्रमा के दर्शन और पूजा के बाद व्रत तोड़ती हैं. करवा चौथ का व्रत पति और पत्नी दोनों के लिए बेहद ख़ास होता है. तो चलिए आज आपको बताते हैं कि हर पत्नी अपने पति से क्या उम्मीद रखती है. 

हर पत्नी करवा चौथ के दिन अपने पति से उम्मीद करती है कि पति के द्वारा उसकी पसंद का कोई उपहार मिले जिसे पाकर वो ख़ुशी से पागल हो जाए. चाहे वह पसंदीदा पोशाक, पसंदीदा गैजेट, मोबाइल, पुस्तकों का एक सेट या फिर खूबसूरत आभूषण हो सकता है. अगर पति अपने पत्नी को गिफ्ट करता है तो पत्नी की ख़ुशी में चार चांद लग जाती है.

  • करवा चौथ के दिन अगर पत्नी से कोई गलती हो जाती है तो वो उम्मीद रखती है कि उसे उनके पति देव उसे क्षमा कर देंगे. अगर देखा जाए तो हर रिश्ते में लड़ाई झगड़े और मनमुटाव होना बेहद सामान्य बात होती है.
  • हर पत्नी चाहती है कि पति देव उसकी तारीफ करे जिससे कि उसकी खूबसूरती और निखर जाए. तारीफ करे भी क्यों न करवा चौथ के दिन पत्नी 16 श्रृंगार करके तैयार होती है ऐसे में वो अपने पति से ये उम्मीद करती है कि उसका पति तारीफ करें.
  • हर पत्नी करवा चौथ के दिन अपने पति से उम्मीद रखती है कि उन्हें किसी दूसरों के साथ तुलना न करे. अगर आप भी अपने वैवाहिक रिश्ते की तुलना दूसरों से करते हैं, तो इस आदत को तुरंत बदल लें.
  • हर पत्नी चाहती कि करवा चौथ के पूरे दिन पति उसके साथ रहे. इसलिए पत्नी ये उम्मीद करती है कि उसका पति इस दिन ऑफिस से छुट्टी ले या फिर रोज़ की तुलना में जल्दी घर आ जाए. जिससे कि पति करवा चौथ की सारी रस्मों में शामिल हो  जाए.