कोरोना काल में कैसे मनायी जायेगी दुर्गा पूजा, आप भी बनायें अपनी गाइडलाइन

-सीमा कुमारी

कोरोना के बजह से सरकार ने हर पंडाल कमिटी को गाइडलाइंस जारी कर दी है, इन गाइडलाइन का पालन अवश्य करें, ताकि कोरोना ज्यादा न फैल सके और हम सब स्वस्थ रहते हुए दुर्गा पूजा देख सकें। इस साल  दुर्गा पूजा के लिए आप भी अपनी गाइडलाइन बना लीजिये, ताकि  कौन कौन सा  पंडाल जाना है, और कितने वक्त के लिए एक पंडाल में रहना है, ध्यान रहे कि आप जिस पंडाल में जा रहे है, उसकी साइज क्या है, कितनी निकास द्वार है, या  फिर कितनी खुली हुई पंडाल है, कोशिश करे की पंडाल के अंदर ज्यादा वक्त न रहे, ताकि दूसरों को आने जाने वाले को  कोरोना संक्रमण न फैले और पूजा कमेटियों को कोई दिक्कत न हो,  खुद की और आने वाले दर्शनार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी.अपनी  गाइडलाइन में यह बाते सुनिश्चित करे, की जाने से पहले अपने मास्क ,सेनिटजर ,ग्लप्स इत्यादि सामग्री आपके पास होनी चाहिए साथ में अन्यथा आप घर से बाहर न लिकले कोशिश करे की एक वयक्ति से दूसरे वयक्ति में  दुरी बनाये रखने में पूजा  कमिटी वालो का मदद करे.जो मास्क पहन कर नहीं आयेंगे उन्हें मास्क देने की व्यवस्था की जाएगी हर पंडाल में कोरोना के वजह से  पूजा पंडाल के भीतर या करीब किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम की इजाजत नहीं होगी. सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे के भीतर उनके आगमन का समय होगी.

हर राज्य में अलग अलग व्यवस्था की दिशा निर्देश दिए गए है.

गुजरात में सार्वजनिक आयोजनों पर रोक रहेगा ;-
गुजरात की बात करें तो यहां लोग इस बार थोड़े निराश होंगे क्योकि सरकार  वहां नवरात्रि महोत्‍सव के सार्वजनिक आयोजनों पर रोक लगा दी है. सरकार के इस फैसले के बाद बड़े गरबा आयोजकों ने भी सरकार का साथ देते हुए गरबा का आयोजन करने से इन्कार कर दिया है. लोग अपने घरों में या छोटी सोसाइटियों में दुर्गा पूजा का आयोजन करते हुए अपनी खुशियाँ का प्रदर्शन करेंगे. हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क  का ध्‍यान रखना जरूरी होगा.

झारखंड में इस बार बनेंगी छोटी प्रतिमा ;-
झारखंड सरकार के मुताबिक इस बार पर्यावरण और कोविद 19  को देखते हुए छोटी प्रतिमा बनाने के  आदेश दिए है  पूजा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णतः पालन किया जाएगा. शहर की सभी समितियों में माता की प्रतिमा छोटे स्वरूप में बनाने पर सहमति बनी. सभी समिति पूजा के दौरान सैनिटाजर व मास्क का समुचित प्रयोग करने का अनुरोध किया गया.

पटना में पंडाल बनाने की इजाजत नहीं है ;-
बिहार ने केंद्र सरकार की गाइडलाइन का हवाला देते हुए जिला प्रशासन ने अपनी कमर कसली है दुर्गापूजा में पंडाल बनाने, प्रतिमा स्थापित करने और मेला लगाने से मना कर दिया है. केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक किसी आयोजन में 100  से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो सकते.मेला लगा और पंडाल बनाए गए तो इसका पालन कराना मुश्किल हो जाएगा.