File Photo
File Photo

    सनातन हिन्दू धर्म में ‘पापमोचनी एकादशी’ (Papmochani Ekadashi) व्रत का विशेष महत्व है। हर महीने दोनों पक्षों, शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की ग्यारहवीं तिथि को एकादशी का व्रत होता है। इस तरह से पूरे साल में कुल मिलाकर 24 एकादशी पड़ती हैं। ‘एकादशी तिथि’ पर भगवान विष्णु के पूजन का विधान है। सनातन हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत को सभी व्रतों में श्रेष्ठ बताया गया है। लेकिन, यह विशेष एकादशी ‘पापमोचनी एकादशी’  दो प्रमुख त्योहारों होली और नवरात्रि के मध्य में पड़ती है।

    शास्त्रों के अनुसार, चैत्र कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को ‘पापमोचनी एकादशी’ के नाम से जाना जाता है। पारंपरिक मान्यताएं हैं कि इस व्रत को करने से  पापों से मुक्ति मिलती है। इसके साथ ही एकादशी तिथि पर कुछ विशेष उपाय करने से जातकों को धन लाभ का योग बनता है। बिजनेस में प्रॉफिट और फंसा हुआ धन जल्द ही आपको मिलने की योग बनाता है। निर्मल हृदय से पूजन और उपाय करने से  आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। आपको नौकरी में प्रमोशन मिलेगा। आपके दाम्पत्य जीवन में चली आ रही परेशानियां दूर होंगी और आपके रिश्ते में फिर से मधुरता बढ़ने लगेगी। आईए जानें क्या करें…

    • आचार्य इंदु प्रकाश बताते हैं कि, अगर आप नौकरी में प्रमोशन चाहते हैं, तो इस दिन एक कच्चा जटा वाला नारियल और 8 बादाम लेकर भगवान विष्णु के मंदिर में चढ़ा दें। इस दिन ऐसा करने से नौकरी में आपके प्रमोशन के चांस बढ़ेंगे।
    • एकादशी के दिन प्रातः भगवान विष्णु का पूजन करें और उसके बाद रात्रि में विष्णु जी की प्रतिमा के सामने 9 बत्तियों का दीपक जलाएं। इसके अलावा एक और दीपक ऐसा प्रज्वलित करें। इस बात का ध्यान रखें कि वह दीपक पूर्ण रात्रि में जलता रहना चाहिए। मान्यताएं हैं कि इससे भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर अपनी कृपा बरसाती हैं और जातकों को धन प्राप्ति का आशीर्वाद देती हैं।
    • एकादशी तिथि के दिन प्रातः उठकर स्नानादि करने के पश्चात भगवान विष्णु का पूजन करें और उसके बाद तुलसी की माला से “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का कम का एक माला, या इससे अधिक जाप करें। इससे भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है। यह उपाय करने से आपके घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
    • अगर आपका जीवनसाथी आपसे ठीक से बात नहीं करता, आपसे कटा-कटा सा रहता है, तो आज आप एक पीपल का पत्ता लेकर उसे साफ पानी से धो लें और उस पर लाल रोली से ‘श्री’ लिखकर भगवान विष्णु को अर्पित करें और अपने रिश्ते की मधुरता को बनाए रखने के लिये भगवान से प्रार्थना करें कि आपके बीच कभी किसी प्रकार की अनबन न हो।  
    • अगर आप अपने घर की सुख-शांति और जीवन में तरक्की बनाए रखना चाहते हैं तो एकादशी के दिन रात के समय भगवान विष्णु का ध्यान करते हुए भजन-कीर्तन करें। कहते हैं कि एकादशी की रात को जागकर भगवान का ध्यान करने से हजार वर्षों तक की गई तपस्या का फल प्राप्त होता है।

    -सीमा कुमारी