America increased its IP attache status in India and these countries

वाशिंगटन: अमेरिका (America) ने भारत (India), चीन (China), यूरोपीय संघ (European Union) और मेक्सिको (Mexico) में काम कर रहे अपने बौद्धिक संपदा अताशे को पदोन्नत करते हुए संबंधित दूतावासों में उन्हें काउंसलर (Councilor) का दर्जा दिया है। बौद्धिक संपदा (आईपी) अताशे अमेरिकी पेटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस (US Patent & Trademark Office) (यूएसपीटीओ) (USPTO) के प्रतिनिधि के तौर पर काम करते हैं।

आईपी अताशे सीधे तौर पर अमेरिकी कारोबार को सहयोग देते हैं और विदेश में बौद्धिक संपदा से संबंधित नीतियों, कानूनों और विनियमों को बेहतर बनाने की हिमायत करते हैं। यूएसपीटीओ ने बृहस्पतिवार को एक बयान में बताया कि चार अताशे- जॉन काबेका (अमेरिकी दूतावास, नयी दिल्ली), कैथिना हेंडरसन (अमेरिकी दूतावास, मेक्सिको सिटी), डंकन विल्सन (अमेरिकी दूतावास, बीजिंग) और सुसान विल्सन (यूरोपीय संघ में अमेरिकी मिशन, ब्रसेल्स) को काउंसलर का दर्जा दिया गया है।

अमेरिकी व्यापार मंत्री (American Trade Minister) विल्बर रॉस (Wilbur Ross) ने कहा, ‘‘यूएसपीटीओ वैश्विक बौद्धिक संपदा अधिकारों की रक्षा के लिए दूसरे देशों के साथ मिलकर काम कर रहा है और कठिन मेहनत करने और एजेंसी की प्राथमिकताओं को पूरा करने के लिए अताशे के दर्जा को बढ़ाया गया है।”

उपमंत्री और यूएसपीटीओ के निदेशक एंड्रेई इयानकू ने कहा कि आईपी अताशे को पदोन्नति से साफ संदेश है कि अमेरिका दुनियाभर में बौद्धिक संपदा अधिकारों के संरक्षण और इसे बनाए रखने को बहुत अहमियत देता है।