कितने विध्नों की भरमार विनती करते बारंबार बाप्पा करो बेड़ा पार

    पड़ोसी ने हमसे कहा, ‘‘निशानेबाज, सह देवों में प्रथम पूज्य गणपति बाप्पा की आस्थापूर्वक वंदना कीजिए. वे विध्नहर्ता हैं. उनसे प्रार्थना कीजिए कि कोरोना महामारी रूपी विश्व के सबसे बड़े विध्न को दूर करें.’’ हमने कहा, ‘‘देखा जाए तो विध्न बाधाओं की कोई कमी नहीं है. तालिबान रूपी विध्न सबसे बड़ा है. इसे लेकर रूस के राष्ट्रपति सुरक्षा सलाहकार और अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख दिल्ली आकर भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से चर्चा कर चुके हैं. सभी का ध्यान तालिबान पर है. सभ्य देशों को ताल से ताल मिलाने की धुन पर इस खतरे के खिलाफ एक जुट होना होगा. पाकिस्तान और चीन जैसे चंगू-मंगू तालिबान से हाथ मिला रहे हैं.

    हमें आशंका है कि पाकिस्तान कश्मीर में तालिबान के जरिए उपद्रव न कराए. पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने तालिबान की तारीफ की है.’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘गणेशजी सुखकर्ता दुखहर्ता हैं. वे संकट हरण करेंगे. मंगलमूर्ति होने से सभी का मंगल करेंगे.’’ हमने कहा, ‘‘हर किसी के सामने अलग-अलग विध्न है. यदि गैर बीजेपी विपक्ष ‘इधर की ईंट, उधर का रोड़ा, भानमती ने कुनबा जोड़ा’ की तर्ज पर एक हो जाता है तो मोदी के लिए विध्न बन सकता है. पहले यूपी विधानसभा में सेमीफाइनल होगा और फिर 2024 के लोकसभा चुनाव में फाइनल मुकाबला. किसानों का आंदोलन भी मोदी सरकार के लिए विध्न बना हुआ है. हरियाणा-पंजाब के किसानों ने पश्चिमी यूपी के राजेश टिकैत का अपना नेता बना रखा है.

    कुछ माह बाद होने वाले चुनाव में यूपी के किसान योगी आदित्यनाथ के लिए विध्न साबित हो सकते हैं.’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, महाराष्ट्र में सहकारी बैंक, को आपरेटिव शुगल मिल’ चलाने वाले नेताओं के लिए सहकारिता विभाग संभालने वाले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह विध्न बाधा खड़ी कर सकते हैं. शरद पवार इसे लेकर आशंकित हैं. बंगाल में ममता बीजेपी विधायकों को दबाव बनाकर फोड़ सकती हैं. यह भी बीजेपी के लिए विध्न होगा. हमने कहा, ‘‘त्योहारों पर लॉकडाउन की लटकती तलवार व्यापारी वर्ग के लिए विध्न है. महंगाई और बेरोजगारी के विध्न ने कितने ही लोगों को मुसीबत में डाल रख है. अब तो हर किसी को गणेशजी को ही मनाना होगा कि हे गणनायक गणराज सारी बाधा दूर करो. आप भी प्रार्थना कीजिए- वक्रतुंड महाकाव्य सूर्यकोटि समप्रभ:, निर्विध्नं कुरु में देव सर्व कार्येषु सर्वदा!’’