Childrens Vaccination

    ठाणे: कोरोना (Corona) से बचाव के लिए टीकाकरण (Vaccination) जरूरी माना जा रहा है। इसी के तहत पिछले साल से ठाणे और अन्य जिलों में टीकाकरण शुरू किया गया है। अब पिछले कुछ महीने से छोटे बच्चों को भी टीका (Children Vaccination) लगाया जा रहा है, लेकिन इस टीकाकरण अभियान को कम प्रतिसाद मिलता नजर आ रहा है। ठाणे महानगरपालिका द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक, ठाणे (Thane) में अब तक 12 से 14 साल के बच्चों में से केवल 20 फीसदी को ही टीका लगाया गया है, जबकि 15 से 18 साल के 88 प्रतिशत और 18 साल के 99 प्रतिशत बच्चों ने टीकाकरण की पहली खुराक पूरी कर ली है। 

    कोरोना महामारी की पहली लहर के बाद कोरोना से बचाव के लिए कोरोना की वैक्सीन सामने आई। इसी के तहत पिछले साल जनवरी से टीकाकरण शुरू हुआ था। हालांकि टीकाकरण के बारे में कई भ्रांतियां के कारण टीकाकरण की प्रारंभिक में कई लोगों ने इसे लगाने से मना कर दिया। साथ ही, शुरुआती दिनों में टीकाकरण कोटा कम उपलब्ध हो रहा था। इसके चलते टीकाकरण केंद्र पर भारी भीड़ लग रही थी।

    टीकाकरण अभियान को नहीं मिली रफ्तार

    इस कारण से टीकाकरण अभियान धीरे-धीरे शुरु हुआ और अब यह सफल होता रहा है, लेकिन आज भी जिस रफ़्तार से यह बढ़ना चाहिए था, वह नहीं बढ़ पा रहा है। ठाणे में 18 साल से कम उम्र के 16 लाख 97 हजार 470 नागरिकों यानी 99.29 फीसदी नागरिकों ने पहली कोरोना वैक्सीन ली है। वहीं दूसरी खुराक लेने वालों का अनुपात 13 लाख 22 हजार 556 है और यह अनुपात 77.36 प्रतिशत है। जबकि आज भी 3 लाख 74 हजार 914 नागरिकों ने दूसरी खुराक अभी तक नहीं ली है। वहीं, 15 से 17 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान भी शुरू किया गया है। इस उम्र के अब तक 86,068 या 88.72 प्रतिशत लोगों ने पहली खुराक ली है। 66 हजार 555 या 68.61 प्रतिशत ने दूसरी खुराक ली है। यानी आज भी दूसरी खुराक लेने वालों का अनुपात 19 हजार 513 कम है। वहीं, तीसरी लहर में बच्चों में कोरोना का खतरा ज्यादा होने के चलते मार्च से 12 से 14 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू हो गया है।  हालांकि, जन जागरूकता की कमी के कारण अभियान को ज्यादा प्रतिक्रिया नहीं मिली है। 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए लक्ष्य 99,646 होने की उम्मीद है। अब तक 20,144 बच्चों को पहली बार कोरोना का टीका लगाया जा चुका है, जो कि केवल 20.21 प्रतिशत है। दूसरी खुराक सिर्फ 6 हजार 231 बच्चों ने ली है। जो यह मात्र 6.25 प्रतिशत पाया गया।