कस्टडी डेथ मामले में दारव्हा थाने के 4 पुलिसकर्मियों पर हत्या का अपराध दर्ज

    • कस्टडी में मारपीट के बाद हुई थी शेख ईरफान की डेथ
    • सीआयडी जांच के बाद दारव्हा थाने में हुए नामजद

    यवतमाल. दारव्हा पुलिस थाने में हिरासत में लिए गए युवक की कस्टडी के दौरान हुई मौत के मामलें में दारव्हा पुलिस थाने के 4 पुलिसकर्मीयों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज कर लिया गया है.

    आज 27 सितंबर की शाम सीआयडी यवतमाल की जांच के बाद दारव्हा पुलिस थाने में 6 जुलाई 2021 को दारव्हा पुलिस थाने में शेख ईरफान शेख शब्बीर निवासी रेल्वेस्टेशन परिसर दारव्हा की कस्टडी के दौरान मारपीट करने से हुई मौत के मामलें में दारव्हा थाने के निलंबित जमादार पुरुषोत्तम बावणे, डायरी अमलदार संजय मोहतुरे, नायब पुलिस कान्स्टेबल सचिन जाधव और शब्बीर परसुवाले इन 4 पुलिसकर्मीयों के खिलाफ धारा 302,323,34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया गया है.इस मामलें में मृतक के भाई द्वारा शेख ईरफान की मौत के मामलें में दोषी पुलिसकर्मीयों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज करने की मांग की गयी थी.

    जिसके बाद मामलें में पुलिस की विभागीय जांच के साथ ही क्राईम ईन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट द्वारा जांच जारी की गयी थी. इस मामलें में जांच के बाद आज शाम दारव्हा पुलिस थाने में उपरोक्त पुलिसकर्मीयों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज कर लिया गया . जल्द ही इन पुलिसकर्मीयों को गिरफ्तार करने की कारवाई की जाएंगी, एैसी जानकारी पुलिस द्वारा दी गयी

    उल्लेखनिय है की,6 जुलाई 2021 को दारव्हा के निकट तरोडा गांव में शराब के नशे में हंगामा मचाने के मामलें की जानकारी दारव्हा पुलिस को मिली  थी, जिसके बाद पुलिस दस्ते ने शेख ईरफान शेख शब्बीर समेत अन्य 3 लोगों को पकडा था, इस दौरान ऑटो से इन लोगों को लाते समय एक युवक ऑटो से कुदकर भाग गया था, जबकी शेख ईरफान समेत अन्य दो युवकों पर पुलिस ने दारव्हा पुलिस थाने में अपराध दर्ज कर उन्हे हिरासत में लिया गया था.

    इसी दौरान कस्टडी में शेख ईरफान से पुलिस द्वारा मारपीट की गयी थी, जिसके बाद उसकी हालत गंभीर हो जाने से हथकडी लगाकर पुलिस ने शेख ईरफान को दारव्हा के सरकारी उपजिला अस्पताल में दाखिल कीया था, लेकिन उसकी हालत गंभीर होने से उसकी मौत हो गयी थी.इस घटना के बाद दारव्हा शहर में तनावपुर्ण हालत हो चुके थे, साथ ही संतप्त जमाव ने दारव्हा थाने में घुसकर तोडफोड कर पथराव कीया था, जिसमें थाने के 3 पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे.तनाव के बाद दारव्हा में कर्फ्यु लगाया गया था.

    शेख ईरफान की कस्टडी में मृत्यू के मामलें बाद मृतक के भाई शेख जाबीर शेख शब्बीर ने भी पुलिस से शिकायत दर्ज की थी, जिसमें उसके भाई की पुलिस कस्टडी में मारपीट कर हत्या करने और इसके लिए उपरोक्त पुलिसकर्मी दोषी होने से उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की गयी थी.इस गंभीर घटना के बाद जिला पुलिस अधिक्षक डा.दिलीप भुजबल ने जांच और दोषीयों पर कडी कारवाई के निर्देश दिए थे, इसके अलावा घटना के बाद विशेष पुलिस महानिरीक्षक अमरावती ने दारव्हा पहूंचकर मामले का जायजा लिया था. इसके बाद मामलें की जांच सीआयडी को सौंपी गयी थी.

    बता दें की घटना के बाद पुलिस की जांच के दौरान कर्तव्य में दोषी पाए गए दारव्हा पुलिस थाने के एपीआय सुनिल विसपुते, चालक शब्बीर परसुवाले, डायरी अमलदार संजय मोहतुरे, कान्स्टेबल सचिन जाधव, तथा जमादार पुरुषोत्तम बावणे को पुलिस विभाग ने निलंबीत कर दिया था.जिसके बाद मामलें की विस्तृत जांच के बाद आज सीआयडी द्वारा शेख ईरफान शेख शब्बीर की कस्टडी डेथ के मामलें में दारव्हा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गयी. जिसके बाद चारों पुलिसकर्मीयों के खिलाफ हत्या अपराध दर्ज कर लिया गया है.