ममता की जनता से मार्मिक अपील, हर कीमत पर जीतना चाहती हैं उपचुनाव

    बंगाल की शेरनी कहलाने वाली ममता बनर्जी भवानीपुर सीट पर होने जा रहे उपचुनाव को लेकर बेहद गंभीर हैं. उनके राजनीतिक अस्तित्व और खास तौर पर मुख्यमंत्री पद के लिहाज से यह चुनाव बड़ी अहमियत रखता है. बंगाल विधानसभा चुनाव में शुभेंदु अधिकारी ने उन्हें नंदीग्राम सीट पर हरा दिया था. टीएमसी जीती लेकिन ममता को अपयश मिला. सीएम पद पर बने रहने के लिए उन्हें 6 माह के भीतर उपचुनाव लड़कर विधानसभा की सदस्यता हासिल करने की संवैधानिक बाध्यता है. चुनाव आयोग ने भवानीपुर उपचुनाव की घोषणा कर ममता को मौका दिया.

    अब ममता किसी भी कीमत पर यह चुनाव जीतना चाहती हैं. उधर विपक्षी पार्टी बीजेपी भी पूरा प्रयास करेगी कि ममता को फिर एक बार हराया जाए. ममता बनर्जी के दिल में नंदीग्राम में हुई पराजय की टीस बनी हुई है. उन्होंने भवानीपुर के नागरिकों से मार्मिक अपील की है कि मेरे लिए एक-एक वोट कीमती है. अगर आप यह सोचकर घर में बैठेंगे कि दीदी तो पक्का जीतेंगी तो यह बहुत बड़ी भूल होगी. अगर बारिश या तूफान भी आ जाए तो घर पर मत बैठे रहना. अपना वोट डालने जरूर जाना वरना मैं मुख्यमंत्री बने नहीं रह सकूंगी. इस अपील से जाहिर है कि ममता कोई कसर छोड़ना नहीं चाहतीं.