बार-बार दिन ये आए, देश के नागरिक सुरक्षित हो जाएं

    पड़ोसी ने हमसे कहा, ‘‘निशानेबाज, प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिवस पर सिर्फ उनके माथे पर टीका या तिलक नहीं लगाया गया, बल्कि देशवासियों को भी बहुत बड़ी तादाद में बांह पर टीका लगाकर रिकार्ड वैक्सीनेशन किया गया. ऐसे में हमारा दिल झूम उठा और हम कहने लगे- तुम जियो हजारों साल, साल के दिन हों पचास हजार!’’ 

    हमने कहा, ‘‘भारत ने टीकाकरण के मामले में चीन का भी रिकार्ड तोड़ दिया. पीएम के बर्थडे पर 2 करोड़ से भी ज्यादा लोगों को कोरोना से सुरक्षित रखने वाला टीका लगा दिया गया. यह 1 महीने में चौथा मौका है जब एक दिन में 1 करोड़ से अधिक टीके लगे हैं. इसके पहले भी भारत ने 3 बार 1 करोड़ रिकार्ड वैक्सीनेशन किया है. हमारे स्वास्थ्यकर्मी कमर कस के भिड़ जाते हैं और बांह पकड़कर शॉट लगाना शुरू कर देते हैं. पहली बार 27 अगस्त को 24 घंटे के भीतर 1.03 करोड़ लोगों को टीके लगाए गए. दूसरी बार 31 अगस्त को करीब 1.09 करोड़ डोज वैक्सीनेशन कर हमारे नेशन ने रिकार्ड बनाया. फिर तीसरी बार 6 सितंबर को 1.13 करोड़ वैक्सीन लगाई गई.’’ 

    पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, यह सब पता कैसे चलता है कि कितने टीके लगाए गए? यह गिनती कौन करता है?’’ हमने कहा, ‘‘कोविड पोर्टल पर एक रियल टाइम ट्रैकर लगाया गया जो हर पल अपडेट होता रहा. इस समय टीका लगाने की हमारी स्पीड हर मिनट 42,000 या 700 टीका प्रति सेकंड है. लक्ष्य हासिल करने के लिए बीजेपी ने हेल्थ वालंटियर तैयार किए हैं ताकि अधिकतम लोगों का वैक्सीनेशन किया जाए.’’ 

    पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, प्रसन्नता और सुख की बात है कि स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर कहा कि स्वास्थ्यकर्मी आएं और वैक्सीन सेवा करें. जिन्होंने अब तक खुराक नहीं ली है, उनका टीकाकरण कर पीएम मोदी को बर्थडे गिफ्ट दें. फिर देखते ही देखते रिकार्ड वैक्सीनेशन हो गया. इसे देखकर हर दिल कह उठा- बार-बार दिन ये आए!’’