कांग्रेसी CM गहलोत ने भी माना गडकरी का लोहा

जब विकास का मामला आता है तो उसमें राजनीति न लाकर परस्पर सहयोग होना चाहिए. यह एक अच्छा संकेत है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने राज्य को 18 सड़क परियोजनाओं (18 Highway Projects Rajasthan)  की सौगात देने पर केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) के प्रति आभार जताया. जनहित के लिहाज से ऐसा ही रचनात्मक दृष्टिकोण जरूरी है. अच्छे काम की हमेशा सराहना होनी चाहिए. केंद्र सरकार समूचे देश की सरकार है.

राजस्थान में 18 सड़क परियोजना देकर उसने दिखा दिया कि यह पार्टी के आधार पर भेदभाव नहीं करती. ऐसा नहीं कि सिर्फ बीजेपी शासित राज्यों में विकास हो और बाकी राज्य मुंह ताकते रह जाएं. जहां तक गडकरी का सवाल है, वे विकास कार्यों के लिए अपनी प्रतिबद्धता की वजह से विपक्ष द्वारा भी सराहे जाते हैं. सड़क निर्माण में तेजी लाने से उन्हें ‘रोडकरी’ भी कहा जाता है. गहलोत ने गडकरी के सामने अपनी मांग भी रख दी कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे, जो दौसा से होकर जा रहा है, उससे जयपुर को भी जोड़ दिया जाए तो अच्छा होगा. इस पर गडकरी ने जयपुर को जोड़ने के लिए एक ग्रीन कोरिडोर बनाने की बात कही लेकिन शर्त रखी कि इसमें राज्य सरकार पूरा सहयोग दे.