जिले के 6 हजार बकाया ग्राहकों की बिजली काटी

    • कट किए गए कनेक्शनों की अब रात में जांच की जाएगी

    अकोला. पिछले 3 सप्ताह में महावितरण ने जिले के लगभग 6 हजार बकाया बिजली ग्राहकों की बिजली काट दी हैं, जिन्होंने अपने बिजली बिलों का भुगतान नहीं किया है. बिजली गुल होने के बाद अवैध बिजली की खपत पर अंकुश लगाने के लिए रात में कनेक्शनों का निरीक्षण किया जाएगा.

    महावितरण द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, 1 सितंबर से महावितरण ने बकाया के खिलाफ बिजली आपूर्ति काटने का अभियान शुरू किया है. पिछले बीस दिनों में बिजली बिल का भुगतान नहीं करने वाले 5,966 बिजली उपभोक्ताओं की आपूर्ति बाधित हुई है. इन घरों पर 5 करोड़ 72 लाख रुपये का बकाया है और इस दौरान जिले के 397 उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति स्थायी रूप से काट दी गई है. इन बिजली उपभोक्ताओं की ओर 70 लाख 39 हजार रुपये बकाया है.

    ह देखा गया है कि कुछ बिजली उपभोक्ता अस्थायी रूप से डिस्कनेक्ट होने के बाद अवैध रूप से बिजली का उपयोग ले रहे हैं. इस हरकत पर लगाम लगाने के लिए विशेष टीम गठित की गई है. टीम शाम को अस्थायी रूप से काटे गए ग्राहकों के घरों का दौरा करेगी. भारतीय विद्युत अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार, यदि ग्राहक पड़ोसी के घर से बिजली लेता है या अवैध रूप से बिजली लेता है तो उसके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी.

    अकोला जिले में काटे गए बिजली कनेक्शन

    अकेले अकोला शहर में तीन सप्ताह में 1,014 उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति काट दी गई है. अकोला ग्रामीण उप विभाग में 812, बालापुर उप विभाग में 595, बार्शीटाकली उप विभाग में 411, मुर्तिजापुर उप विभाग में 651, पातुर उप विभाग में 552 विद्युत आपूर्ति काट दी गई है. अकोट उप विभाग में सर्वाधिक 1,245 विद्युत कनेक्शन काटे गए हैं.