Shrunkhla Anshan, Wardha, Umri

    हिंगनघाट (सं). तहसील के गुट ग्रामपंचायत उमरी येडे में सुलतनापुर व पारधी बेडा वासियों द्वारा विविध समस्या को लेकर ग्रामपंचायत प्रशासन को बार-बार निवेदन देकर भी ध्यान नही दिया जा रहा है. जिस कारण अब सुलतानपुर वासियों ने ग्रापं के विरोध में श्रृंखला अनशन शुरु किया है. गांव में नालियां नही है. कुछ जगह नालियां बनाई गई है, जिसकी सफाई नही होती. परिणाम स्वरुप जगह-जगह पानी जमा रहता है. गांव में गंदगी का साम्राज्य है. जिससे डेंगू सहित संक्रामक बीमारियों का फैलाव हो रहा है.

    गांव के मार्ग पर गड्डों का साम्राज्य है. परंतु इन गड्डों की दुरुस्ती नही हो रही है. जिला परिषद स्कूल में नल कनेक्शन जोडने के लिए भी कोई तैयार नही है. गांव में अनेक वर्षो से पोल व लाइट की सुविधा नही. सरपंच अर्चना अंकुश चेले व ग्रामसंच चंदू तपासे की ओर बार-बार शिकायत करने के बावजूद भी ध्यान नही दिया जा रहा है. जिससे ग्रामीण त्रस्त हुए है.

    सरपंच पति पर कार्रवाई की मांग

    पारधी बेडा में वर्ष 2017-2018 व 2018-2019 में जलापूर्ति कर 720 रुपए रहते हुए भी 1020 रुपए लिया गया है. जिसके लिए संबंधितों पर कार्रवाई करें. पारधी बेडे पर जाकर पानी छोडे 500 रुपए की मांग करनेवाले सरपंच के पति पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर अनंता वायसे के नेतृत्व में ग्रामीणों ने ग्रामपंचायत के सामने श्रृंखला अनशन शुरु किया है.

    आंदोलन में नरेश डहाने, भुषण निशाणे, गजानन येलेकर, सूरज आटोले, कुणाल नागठाणे, अनिकेत चिंचुलकर, शुभम भोयर, रोशन निशाणे, सुदन भगत, भागवत भोयर, आकाश भगत, प्रेम साबले, अमोल येडे, प्रवीण चिंचुलकर, उत्तम आटोले, रुपेश भोयर, शुभम गलांडे, कुणाल सातारकर, शांताराम चिंचुलकर, रोशन भोयर, मंगेश भगत, नितेश चिंचुलकर, प्रमोद येलेकर, दीपक चिंचुलकर, रविकांता येलेकर सहभागी है.