Super Specialty Hospital Nagpur
File Photo

    नागपुर. पिछले 15 दिनों से सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की कैथ लेब बंद पड़ी है. इस वजह से एंजियोप्लास्टी की सभी प्रक्रियाएं रुक गई हैं. दरअसल मशीन का एक पार्ट खराब हो गया है. यह जर्मनी से मंगाया जा रहा है. जब तक यह पार्ट नहीं आता तब तक कैथ लेब बंद रहेगी. सुपर स्पेशलिटी में कैथ लेब, फेब्रो स्कैन सहित ९९ तरह के उपकरण हैं.

    इन उपकरणों की वारंटी खत्म होने के बाद मेंटनेंस के लिए हर वर्ष करीब डेढ़ करोड़ रुपये की जरूरत पड़ती है. इसके लिए सीएनसी, एएनसी करना पड़ता है लेकिन राज्य सरकार द्वारा निधि देने में हमेशा देरी की जाती है. कंपनी से एएनसी और सीएनसी करार होने के बाद ही सुधार की प्रक्रिया शुरू होती है. लेकिन अब तक सीएनसी नहीं हुई है.

    मेडिकल प्रशासन ने हाल ही में २७ लाख रुपये दुरुस्ती के लिए जर्मनी की कंपनी को दिया है. मशीन का खराब हुआ पार्ट आने के बाद ही कैथ लेब शुरू हो सकेगा. उल्लेखनीय है कि सुपर में रोजाना १० एंजियोग्राफी होती हैं. यही वजह है कि करीब 200 मरीजों की वेटिंग हो गई है.