AIADMK साझा सरकार के खिलाफ BJP को सुनाई खरी-खरी

तमिलनाडु की राजनीति में अपना महत्व जताते हुए अ.भा. अन्नाद्रमुक (एआईएडीएमके) (AIADMK) ने बीजेपी को स्पष्ट संदेश दिया है कि नए वर्ष की पहली तिमाही में होने वाले विधानसभा चुनाव में एआईएडीएमके ही ‘बड़े भाई’ की भूमिका में रहेगा. एमजी रामचंद्रन व जयललिता की परंपरा को निभाते हुए पार्टी पलानीस्वामी को ही मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में पेश करेगी.

बीजेपी (BJP) को गठबंधन में यह बात माननी पड़ेगी. यद्यपि मुख्य्मंत्री पलानीस्वामी व उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम  (Paneerselvam) सीधे बीजेपी का नाम लेने से बचते रहे लेकिन एआईएडीएमके उपसमन्वयक केजी मुनुस्वामी (K P Munusamy) ने बीजेपी को खरी-खरी सुना दी. उन्होंने कहा कि कुछ राष्ट्रीय पार्टियां द्रविड़ दलों के 50 वर्ष के शासन को बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं. बीजेपी के साथ अन्य दलों के गठबंधन का उनकी पार्टी की नजरों में कोई महत्व नहीं है. अगर किसी भी गठबंधन का नेतृत्व करना है तो वह एआईएडीएमके ही करेगी. तमिलनाडु में साझा सरकार बनाने की बात करने की कोई जरूरत नहीं है. तमिलनाडु में बीजेपी ने साझा सरकार बनाने का सुझाव दिया है जिसके लिए एआईएडीएमके राजी नहीं है. बीजेपी ने अभिनेता कमल हासन और रजनीकांत की पार्टियों से तालमेल की बात कही थी जिस पर एआईएडीएमके ने कड़ा रुख अपनाया.