सास बहू के झगड़े में पुलिस का क्या काम

    सास-बहू (Mother in Law) के झगड़े में पुलिस का क्या काम! लगता है यूपी पुलिस को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के गृह जिले गोरखपुर (Gorakhpur) की नई-नवेली बहू पर तरस आ गया जिसने जरा सी बात का अफसाना बना दिया था. बहू से (Daughter in Law) सीधे 112 नंबर पर डायल कर पुलिस बुला (Police)ली और शिकायत भी कि उसकी सास दिन भर टीवी देखती है और उसे बासी खाना देती है. इसे खाकर वह बीमार पड़ सकती है. जवाब में सामने कहा कि वह बहू को हमेशा ताजा भोजन देती है जबकि बहू दिन भर मोबाइल में बिजी रहती है. ऐसी अजीब शिकायतें सुनकर पुलिस वाले भी चकरा गए होंगे.

    बहू को समझाया जा सकता था कि वह खुद खाना बनाया करे आखिर कब तक हाथों में मेंहदी लगाए रहेगी. बूढ़ी सास को कुछ तो राहत दे. सास भी तय करती है कि एक वक्त खाना वह बनाएगी और दूसरे वक्त बहू! दोनों के पति बाहर रहते हैं और घर में दोनों ही अकेली रहती है इसलिए टाइम पास करने के लिए रोज झगड़ा करती हैं. इस विवाद के निपटारे के लिए योगी की पुलिस की ब्जाय केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ज्यादा प्रभावी हो सकती हैं वे खुद आदर्श बहू तुलसी की भूमिका निभा चुकी हैं. स्मृति उन्हें बता सकती हैं कि मेरा पुराना सीरियल ‘क्यूंकि सास भी कभी बहू थी’ देखो और कुछ सीखो. बहू अपनी सास को ‘बा’ कहे और सास भी बहू से बेटी जैसा अपनापन रखते हुए व्यवहार करे तो कोई प्राब्लम नहीं रह जाएगा.