BCCI engaged in investigation of streaming as a Lanka Youth League match in Chandigarh

नई दिल्ली. चंडीगढ़ में खेले गये एक टी20 मैच की ऐसे ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की गयी जैसे यह मैच श्रीलंका में खेला गया हो और बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू), पंजाब पुलिस और श्रीलंका क्रिकेट संघ इसकी जांच में जुटा हुआ है। ‘इंडियन एक्सप्रेस’ की शुक्रवार को रिपोर्ट के अनुसार यह मैच 29 जून को खेला गया था जो चंडीगढ़ से 16 किलोमीटर दूर सवारा गांव में हुआ था लेकिन इसे श्रीलंका के बादुला शहर में ‘यूवा टी20 लीग’ मैच के तौर पर स्ट्रीम किया गया। बादुला शहर यूवा प्रांतीय क्रिकेट संघ का घरेलू मैदान है। पंजाब पुलिस अधिकारियों ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिये इसकी जांच चल रही है कि कहीं इसमें सट्टेबाजी गिरोह तो शामिल नहीं था और बीसीसीआई भी इसमें शामिल होने वाली की जानकारी हासिल करने के लिये इस पर नजर लगाये है।

बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख अजीत सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमारी जांच प्रक्रिया जारी है। जब हम इसमें शामिल लोगों के बारे में जान जायेंगे, हम अपना डाटाबेस अपडेट कर देंगे। हम जानना चाहेंगे कि कौन इसमें शामिल थे। हालांकि केवल पुलिस ही इस पर कार्रवाई कर सकती है। बीसीसीआई एजेंसी के तौर पर यह हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। ” उन्होंने कहा, ‘‘अगर यह बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त लीग होती या फिर इसमें खिलाड़ियों की भागीदारी होती तो हम उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकते थे।

अगर यह सट्टेबाजी के उद्देश्य से किया गया है तो यह अपराध है और यह पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है, हम कुछ नहीं कर सकते। ” श्रीलंका में यूवा प्रांतीय क्रिकेट संघ के सहायक सचिव भागीरधन बालाचंद्रन ने कहा कि उनकी संस्था इतनी सक्रिय नहीं है और किसी ने काफी खोजबीन के बाद यह किया है। बालाचंद्रन ने बादुला से पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमारे संघ ने ऐसे किसी टूर्नामेंट को मंजूरी नहीं दी और न ही इसे आयोजित किया। हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और श्रीलंका क्रिकेट से चर्चा कर रहे हैं। ” मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह चहल ने कहा कि जांच चल रही है। उपाधीक्षक के पी सिंह ने कहा कि उन्हें इस मैच के बारे में ऑनलाइन शिकायत मिली थी। उन्होंने कहा कि गुरूवार रात को दो व्यक्तियों पंकज जैन और राजू को गिरफ्तार भी किया गया।(एजेंसी)