shikhar dhawan
File Photo

    कोलंबो: श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम की कमान संभाल रहे शिखर धवन का मानना है कि नेतृत्वकर्ता का काम सभी को एकजुट और मानसिक रूप से अच्छी स्थिति में रखना है। विराट कोहली और अन्य अहम खिलाड़ियों के न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए इंग्लैंड जाने के बाद बायें हाथ के बल्लेबाज धवन को सीमित ओवरों की टीम की कमान सौंपी गई। भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर मेजबान टीम के खिलाफ पांच टेस्ट भी खेलेगी। 

    भारत का श्रीलंका दौरा 18 जुलाई से शुरू होगा जिसमें टीम को तीन एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेलने हैं। धवन ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘फॉलो द ब्ल्यूज’ पर कहा, ‘‘यह मेरे लिए बड़ी उपलब्धि है कि मैं भारतीय टीम का कप्तान बना हूं। एक नेतृत्वकर्ता के रूप में मैं चाहता हूं कि सभी एकजुट और खुश रहें- यह सबसे महत्वपूर्ण चीज है।” 

    उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास अच्छी टीम, शानदार सहयोगी स्टाफ है और हमने पहले भी एक साथ काम किया है।” धवन ने कहा कि पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ के साथ उनके रिश्ते अच्छे हैं जिन्हें श्रीलंका दौरे के लिए टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया है। 

    धवन ने कहा, ‘‘राहुल भाई के साथ मेरे रिश्ते अच्छे हैं। जब मैंने रणजी ट्रॉफी खेलना शुरू किया तो मैं उनके खिलाफ खेला और तभी से उन्हें जानता हूं। जब मैं भारत ए की ओर से खेला तो मैं कप्तान था और वह कोच थे इसलिए बातचीत होती थी।” उन्होंने कहा, ‘‘जब वह एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) के निदेशक बने तो हम लगभग 20 दिन के लिए वहां जाते थे इसलिए काफी बात होती थी और अब हमारे बीच अच्छे रिश्ते हैं। अब हमें छह मैच एक साथ खेलने का मौका मिला है इसलिए काफी मजा आएगा और मुझे लगता है कि हम सभी एक साथ अच्छा प्रदर्शन करेंगे। ” 

    चयनकर्ताओं ने रुतुराज गायकवाड़ और चेतन सकारिया जैसे कई उभरते हुए खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया है जिन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का अनुभव नहीं है और धवन चाहते हैं कि ये युवा खिलाड़ी अपने सफर का लुत्फ उठाएं। उन्होंने कहा, ‘‘टीम में युवाओं के होने और उनके सपने को साकार होते हुए देखकर खुश हूं। यह बड़ी चीज है कि ये युवा अपने शहरों से कुछ सपने लेकर निकले और उनके सपने पूरे हो रहे हैं। ” 

    धवन ने कहा, ‘‘और अब उन्हें उस सफर का लुत्फ उठाना चाहिए जिसने उन्हें टीम इंडिया में जगह दिलाई।” धवन ने कहा कि टीम के सीनियर और युवा खिलाड़ी दोनों एक दूसरे से सीखेंगे। (एजेंसी)