कोविड योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं मुंबई क्रिकेट संघ के स्कोरर जोशी

मुंबई. मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) के 55 वर्षीय स्कोरर दीपक जोशी इन दिनों विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों के चौकों और छक्कों का हिसाब रखने के बजाय कोरोना वायरस योद्धा के रूप में अपनी भूमिका बखूबी निभा रहे हैं। जोशी दक्षिण मुंबई के एक अस्पताल में पिछले 28 वर्षों से मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट के पद पर कार्यरत हैं और अभी उनका काम कोविड-19 के संदिग्ध सभी मरीजों का एक्सरे करना है। जोशी विरार में रहते हैं जो कि मुंबई का उपनगरीय इलाका है। वह 24 मई से काम पर लौट आये थे। उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘मैं 24 जुलाई को तीन बसों और तीन घंटे से अधिक समय तक यात्रा करने के बाद अपने अस्पताल पहुंचा और तब से पूरे मनोयोग से अपना काम कर रहा हूं। मुझे हर दिन आठ घंटे काम करना पड़ता है और इस बीच मैं कोविड-19 के 15 से 20 संदिग्ध मरीजों को देखता हूं। मैं उनकी छाती का एक्सरे करता हूं। ”

मुंबई क्रिकेट संघ के आधिकारिक स्कोरर के तौर पर घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर के कुल 328 मैचों में स्कोरिंग कर चुके जोशी पिछले लगभग एक महीने से अपने घर नहीं गये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं 24 मई के बाद अपने घर नहीं गया। अस्पताल ने मुझे ठहरने के लिये जगह उपलब्ध करायी है और मैं वहीं रहता हूं। मैं इसके लिये होटल प्रबंधन का आभारी हूं। ” जोशी ने कहा, ‘‘मेरी पत्नी और बेटियां मेरी सुरक्षा को लेकर चिंतित रहती है लेकिन तब भी वे मुझे काम जारी रखने के लिये प्रोत्साहित करती है। वे चाहती हैं कि मैं अपनी सुरक्षा के लिये जरूरी उपाय करूं। उनका सहयोग मेरे लिये काफी मायने रखता है। ” उन्हें खुशी है कि मुंबई क्रिकेट संघ ने उनके काम की प्रशंसा की। अब तक 11 टेस्ट, 21 वनडे और पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय में आधिकारिक स्कोरर रहे जोशी ने कहा, ‘‘मुंबई क्रिकेट संघ के कुछ अधिकारियों ने मुझसे बात करके मेरे काम की प्रशंसा की। इससे भी मुझे प्रेरणा मिली।”(एजेंसी)