File Photo
File Photo

    टोक्यो: ओलंपिक खेल अपने कार्यक्रम में नये खेलों के शामिल होने से प्रत्येक चार साल बाद भव्य होते रहते हैं और इस बार 339 पदक दांव पर लगे होंगे जिससे तोक्यो खेल अब तक के सबसे बड़े ओलंपिक खेल होंगे। कोविड-19 से प्रभावित तोक्यो खेलों में पांच खेल ओलंपिक कार्यक्रम में जुड़ेंगे जिसमें से चार पदार्पण करेंगे जो स्केटबोर्ड, सर्फिंग, स्पोर्ट्स क्लाइंबिंग और कराटे हैं। पहली बार ओलंपिक कार्यक्रम में स्केटबोर्ड और सर्फिंग को शामिल किया है जिन्हें 2024 पेरिस ओलंपिक के लिये भी मंजूरी मिल गयी है। 

    स्केटबोर्ड में पार्क और स्ट्रीट दो वर्गों में स्पर्धायें खेली जायेंगी। सर्फिंग पुरूष और महिला दोनों वर्गों में करायी जायेगी। युवाओं में आजकल स्पोर्ट्स क्लाइंबिंग को लेकर काफी ‘क्रेज’ है जो एकल स्पर्धा के तौर पर पुरूष और महिला दोनों वर्गों में होगी। कराटे जापान की पारंपरिक मार्शल आर्ट है जिसकी शुरूआत जापान के ओकिनावा में 1868 में हुई थी। देश में इसकी लोकप्रियता को देखते हुए इसे कार्यक्रम का हिस्सा बनाया गया है, हालांकि इसे पेरिस के अगले चरण में शामिल नहीं किया जायेगा। 

    यह काटा और कुमिटे दो स्पर्धाओं में खेली जायेगी। वहीं बेसबॉल और साफ्टबॉल पहले भी ओलंपिक का हिस्सा रह चुकी हैं। बेसबॉल को 1992 बार्सिलोना खेलों में पदक स्पर्धा के रूप में शामिल किया गया था जो 2008 बीजिंग तक ओलंपिक का हिस्सा बनी रही लेकिन फिर इसे सूची से हटा दिया गया। जापान में बेसबॉल काफी लोकप्रिय है तो यह टोक्यो ओलंपिक में वापसी को तैयार है। बेसबॉल केवल पुरूषों और साफ्टबॉल महिलाओं की स्पर्धा है। 

    साफ्टबॉल ने 1996 अटलांटा ओलंपिक में पदक स्पर्धा में पदार्पण किया था और यह भी 2008 तक कार्यक्रम का हिस्सा बना रहा लेकिन फिर इसे हटा दिया गया। इसे सिर्फ तोक्यो ओलंपिक में ही रखा जायेगा और 2024 पेरिस ओलंपिक में यह स्पर्धा नहीं दिखेगी। तोक्यो ओलंपिक में कई मौजूदा खेल नये प्रारूप में दिखायी देंगे जिसमें बास्केटबॉल और साइक्लिंग स्पर्धायें शामिल हैं। (एजेंसी)